प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण के संकट काल में हर ओर बंदी है। कोरोना कर्फ्यू में बाजार, दुकानें बंद हैं। ऐसे में दो वक्‍त की रोटी के लाले कुछ लोगों को पड़ गए हैं। ये हैं गरीब, दिहाड़ी मजदूर। कुछ ऐसे ही जरूरतमंदों की सहायता के लिए प्रयागराज में कई संस्‍थाओं के लोग आगे आए हैं। इन सब के साथ वे अस्‍पताल में भर्ती मरीजों के परिवार के लोगों का भी ध्‍यान रख रहे हैं।

स्नेह ग्रुप की पदाधिकारी व अधिवक्ता स्मृति कार्तिकेय के अलावा लोकसेवक मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजकुमार चोपड़ा, सामाजिक एकता परिषद के अध्यक्ष ओमप्रकाश शुक्ल और सामाजिक कार्यकर्ता अरशद भाई लोगों का सहयोग कर रहे हैं। वह मरीजों, तीमारदारों व कोरोना कर्फ्यू में फंसे दिहाड़ी मजदूरों में भोजन का पैकेट वितरित कर रहे हैं।

संक्रमण बढ़ने पर की गई बंदी की वजह से होटल, रेस्टोरेंट बंद होने से दूरदराज से मरीजों को लेकर आए लोगों और गरीबों को परेशानी हो रही है। लगातार 15वें दिन रविवार को भी स्नेह ग्रुप के संयोजक व शिक्षक श्रीनारायण यादव आदि खाने का पैकेट बांटने के लिए निकले। अनुराधा, संत गाडगे समाज के जिलाध्यक्ष अनंत कुमार चौधरी, उम्मीद एक मुहिम संस्‍था के महासचिव राहुलदेव आजाद, अध्यक्ष रवि कुमार, दिव्यांग मोर्चा के अध्यक्ष लवलेश सिंह, संजय सिंह, गुड्डू पंडित, चंदन निषाद, भास्कर सिंह, ज्ञानेंद्र गौतम, फरीन खान, अश्वनी कुमार आदि समूहों में शहर के कई जगहों पर जरूरतमंदों को भोजन बांट रहे हैं। रविशंकर मिश्रा ने बताया कि स्वरूप रानी अस्पताल, कमलानेहरु, बेली, कालवन अस्पताल के बाहर तीमारदारों व पोलोग्राउंड, परेड ग्राउंड में मजदूरों को भोजन पैकेट वितरण किया जा रहा है।

स्नेह ग्रुप की पदाधिकारी व अधिवक्ता स्मृति कार्तिकेय ने कहा कि इस आपदा में हम सभी मिलजुल कर कोरोना पर विजय हासिल कर सकते हैं। ऐसे में सामाजिक सामंजस्य व सहयोग से कोरोना की चेन तोड़ी जा सकती है।

Edited By: Brijesh Srivastava