प्रयागराज, जेएनएन। पूर्व विधायक जवाहर पंडित हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे करवरिया बंधु के सबसे बड़े भाई पूर्व सांसद कपिलमुनि करवरिया की पेरोल पर नैनी सेंट्रल जेल से अल्पकालिक रिहाई असमंजस में फंस गई है। हाईकोर्ट ने तीनों भाइयों को अल्पकालिक जमानत पर रिहा करने का निर्देश दिया है, लेकिन जेल प्रशासन ने यह कहते हुए कपिलमुनि को रिहा करने से मना कर दिया है कि उनके विरुद्ध वाराणसी में कायम एक मुकदमे में बेल नहीं हुई है। ऐसे में परिवार की चिंता बढ़ गई है, क्योंकि रिहाई उनके छोटे भाई की बेटी की शादी के लिए मिल रही है।

अब दोबारा हाईकोर्ट से आदेश होने पर ही रिहाई

नैनी जेल के एक अधिकारी का यह भी कहना है कि जमानत संबंधी कागजात पर त्रुटि है, लिहाजा अब हाईकोर्ट से कोर्ट दोबारा आदेश होने पर ही अनुपालन हो सकेगा। उधर, कहा यह भी जा रहा है कि करवरिया बंधु पक्ष के अधिवक्ता फिर से इस मामले को लेकर हाईकोर्ट में अर्जी देंगे, ताकि कपिलमुनि को पेरोल पर जेल से बाहर निकाला जा सके। वहीं, करीब 18 माह बाद सलाखों से बाहर आने के बाद पूर्व विधायक उदयभान और उनके छोटे भाई पूर्व एमएलसी सूरजभान कोरोना संक्रमण के चलते होम क्वारंटाइन हो गए हैं। दोनों को गुरुवार देर रात पेरोल पर नैनी जेल से रिहाई मिली थी। तीनों भाई समेत चार लोगों को पूर्व सपा विधायक जवाहर पंडित हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा मिल चुकी है।