प्रयागराज, जेएनएन।

वह कैंसर से पीडि़त था। इलाज कराने के लिए कमला नेहरू अस्‍पताल के कैंसर विंग में उसे परिवार के लोग ले गए। प्राइवेट लैब में जांच कराई गई तो उसमें कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। जानकारी जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग को हुई तो चिकित्सक व राजस्व अधिकारी संक्रमित युवक के गांव पहुंचे। उसके संपर्क में आए लोगों की तलाश हो रही है। युवक कौशांबी का रहने वाला है।

कौशांबी के मंझनपुर इलाके का रहने वाला है युवक

मंझनपुर क्षेत्र के हसनपुर गांव का एक युवक गुवाहाटी में काम करता था। तबीयत खराब होने पर वह 28 जनवरी को घर लौटा। परिवार के सदस्यों की मानें तो पहले उसका स्थानीय इलाज कराया गया लेकिन राहत नहीं मिली। पूर्व में हुई जांच में कैंसर की पुष्टि भी हुई थी।

बोले, सीएमओ डॉ. पीएन चतुर्वेदी

हालत बिगडऩे के बाद 29 मई को इलाज के लिए उसे प्रयागराज के कमला नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया। जांच के बाद कोरोना की पुष्टि हुई। सीएमओ डॉ. पीएन चतुर्वेदी ने बताया कि प्रयागराज के एसआरएन में युवक को भर्ती कराया गया था। जांच रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि हुई है। जानकारी मिलने के बाद गांव में स्वास्थ्य टीम भेज दी गई है।

कौशांबी में दो और लोगों ने कोरोना को दी मात

सीएचसी कड़ा क्षेत्र दो युवक कोरोना जंग जीतकर घर पहुंचे। इससे परिवार व गांव के लोग काफी खुश हैं। कड़ा क्षेत्र के कनवार गांव निवासी सूर्यभान व पंचहजारी का पूरा निवासी दीवान काम की तलाश में मुंबई गए थे। लॉकडाउन में लौटे तो जांच करने के बाद स्वास्थ्य टीम ने स्कूल में क्वारंटाइन करा दिया। इस दौरान तबीयत खराब हुई तो जांच के लिए सैंपल भेजा गया। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दोनों को 10 दिन पूर्व मंझनपुर पीएचसी परिसर में बनाए गए कोविड-19 एल-1 वार्ड में भर्ती कराया गया था। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद घर भेज दिया गया है। सीएमओ डॉ. पीएन चतुर्वेदी ने बताया कि अब दोनों स्वस्थ हो गए है, लेकिन अभी घर में 14 दिनों तक क्वारंटाइन रहेंगे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021