प्रयागराज, जेएनएन। मोतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल (काल्विन) व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रतापपुर इलाज की गुणवत्ता में सबसे बेहतर पाए गए हैं। दो माह पहले निरीक्षण करने आई केंद्रीय टीम की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। अब इन अस्पतालों को और बेहतर बनाने के लिए भारत सरकार भी मदद करेगी।

नेशनल क्वालिटी इंश्योरेंस स्टैंडर्ड की टीम ने किया सर्वे

30 अक्टूबर को भारत सरकार की ओर से नेशनल क्वालिटी इंश्योरेंस स्टैंडर्ड की टीम प्रतापपुर व काल्विन अस्पताल की व्यवस्था देखने पहुंची थी। यहां मरीजों को इलाज में क्या सुविधाएं मिल रही हैं, दवाओं की उपलब्धता है या नहीं, डॉक्टर व कर्मचारी, मरीज व तीमारदारों के साथ किस तरह का व्यवहार कर रहे हैं समेत अन्य सुविधाओं की पड़ताल की गई थी। टीम में आए सदस्यों ने इन अस्पतालों का पूरा विवरण शासन के माध्यम से विशेषज्ञों को उपलब्ध कराया।

शासन की ओर से इसकी सूची जारी कर दी गई है

क्वालिटी इंश्योरेंस के जिला प्रबंधक डॉ. शुभेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि शासन की ओर से इसकी सूची जारी कर दी गई है। इसमें काल्विन को 89 फीसद व प्रतापपुर पीएचसी को 86.5 फीसद अंक मिले हैं। अब तक प्रदेश में ऐसे 11 अस्पतालों का चयन किया जा चुका है, प्रयागराज के दो और अस्पताल होने से यह संख्या अब 13 हो गई है। काल्विन के प्रमुख अधीक्षक डॉ. वीके सिंह ने बताया कि अस्पताल में मरीजों के बेहतर इलाज के लिए हम तत्पर हैं। पूरे स्टाफ की बेहतर कार्यप्रणाली से यह संभव हो पाया है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021