इलाहाबाद : प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार की रात में इलाहाबाद में ही रुके थे। सुबह उन्होंने शहर का भ्रमण कर विकास कार्यों की हकीकत जानी। दारागंज स्थित वेणीमाधव मंदिर में पूजन-अर्चन किया।

मुख्यमंत्री कुंभ के कार्यों का निरीक्षण करने के लिए रविवार की सुबह निकले। वह सबसे पहले भारद्वाज पार्क के विकास कार्य को देखने पहुंचे। इसके बाद करीब नौ बजे वहां से दारागंज स्थित वेणीमाधव मंदिर पहुंचे। यहां सीएम को माधवेंद्र त्रिपाठी और डॉ. विभूति त्रिपाठी ने पूजन कराया। सीएम ने पूजन करके आरती उतारी और मंदिर की परिक्रमा की। उनके साथ कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, नंद गोपाल गुप्त नंदी समेत कई भाजपा नेता मौजूद रहे।

 मंदिर प्रबंधन ने कुंभ की वेबसाइट में वेणीमाधव मंदिर का नाम न होने की शिकायत की। इस पर सीएम ने कहा कि इसे ठीक कराया जाएगा। पूजन-अर्चन करने के बाद वहां से किला स्थित सरस्वती कूप पहुंचे। यहां मीडिया का जाने पर प्रतिबंध था। किला से वह झूंसी के लिए रवाना हो गए। झूंसी के ब्रह्मचारी आश्रम पहुंचे। सीएम योगी ने इस दौरान अलोपीबाग चौराहा, झूंसी होते हुए अंदावा चौराहे के सौंदर्यीकरण, मार्ग प्रकाश व्यवस्था व सड़क का काम देखेंगे। फिर वह कटका में ओल्ड जीटी रोड मार्ग होते उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम द्वारा कराए जा रहे स्थायी बस अड्डा के कार्य का निरीक्षण किया।

 अलोपीबाग फ्लाईओवर और बांगड़ धर्मशाला होते हुए अरैल के लिए रवाना हुए। वहां सूलटंकेश्वर महादेव मंदिर के पास बन रहे ओवरहेड टैंक के निर्माण का काम देखेंगे। फिर त्रिवेणी पुष्प में कराए जा रहे कार्यों का निरीक्षण करेंगे। सच्चा आश्रम के पास यमुना नदी के किनारे पक्के घाट का काम देखेंगे। इसके बाद वह अप्रवासी भारतीयों के लिए बनने वाले टेंट सिटी के प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण करेंगे। वहां से वह सर्किट हाउस पहुंचेंगे। मीडिया से मुखातिब होने के बाद सीएम पुलिस लाइन से हेलीकॉप्टर से लखनऊ लौट जाएंगे।

Posted By: Brijesh Srivastava