प्रयागराज,जेएनएन : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए जनता से सीधा संवाद स्थापित किया। दावा किया कि उनके छत्तीसगढ़ में मंदी का कोई असर नहीं है। वह पड़ोसी जिले प्रतापगढ़ की सदर विधानसभा सीट के लिए हो रहे उप चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. नीरज त्रिपाठी के समर्थन में गुरुवार को कांधरपुर बाजार में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।

मंच पर आते ही सवाल किया कि आप लोगों का धान कितने में बिक रहा है? उत्तर मिला 1700 रुपये क्विंटल। बोले, उनकी सरकार ढाई हजार रुपये प्रति क्विंटल की दर से धान खरीद रही है। दूसरा सवाल- योगी और मोदी सरकार ने किसानों का कर्ज माफ किया? जवाब में चवन्नी सुनते ही बोले कि उन्होंने छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के कुछ ही घंटों में किसानों का दस हजार करोड़ रुपया कर्ज माफ कर दिया था। उत्तर प्रदेश और प्रतापगढ़ के बहुत से लोग उनके राज्य में बसे हैं, उनसे पता लगा लें कि छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानों के पांच हार्स पावर तक के लिए बिजली बिल माफ कर रखा है। पंद्रह हजार युवाओं को शिक्षक की नौकरी दी। कहा कि मोदी की नीतियों के कारण आज देश में मंदी छाई है, मगर छत्तीसगढ़ में मंदी का कोई असर नहीं है।

छत्तीसगढ़ में ऑटो सेल्स में 11 फीसद की वृद्धि दर्ज हुई:

बताया जा रहा कि ऑटो मोबाइल क्षेत्र की हालत खस्ता है, जबकि छत्तीसगढ़ में ऑटो सेल्स में 11 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई है। यह है मनमोहन और मोदी की नीतियों के फर्क का असर। उन्होंने योगी सरकार के समय में बेसहारा मवेशियों की दयनीय हालत का भी मुद्दा उठाया। कहा कि मेरी सरकार ने 35 लाख मवेशियों के लिए गोशाला बनाई है और वहां की देखरेख करने वालों को दस हजार रुपये मासिक देने की व्यवस्था की गई है। बड़ा राज्य होने के नाते उत्तर प्रदेश पूरे देश की राजनीति तय करता है और अब उत्तर प्रदेश की राजनीति की दिशा प्रतापगढ़ से तय होगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस