प्रयागराज, जेेएनएन। प्रतापगढ़ में ट्रैवेल्स के कारोबार में वर्चस्व बनाने के लिए गुरुवार शाम दो एजेंसी संचालकों में जमकर मारपीट हुई। इस दौरान बस में तोडफ़ोड़ की गई। सरेशाम मारपीट होने से अफरा-तफरी मच गई। खबर पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने सात लोगों को हिरासत में ले लिया।

सांगीपुर बाजार की दोनों ट्रैवेल्स एजेंसी

सांगीपुर थाना क्षेत्र के बूबूपुर गांव निवासी विजय कुमार शुक्ल ने सांगीपुर बाजार में ट्रवेल्स खोल रखा है। वह हरियाणा और दिल्ली के लिए दो वाल्बो बस चलवाते हैं। वहीं अमेठी जिले के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के कंसापुर बडग़ांव निवासी मनोज सिंह (24) पुत्र परशुराम सिंह ने भी सांगीपुर में ट्रवेल्स खोल रखा है। वह भी हरियाणा व दिल्ली के लिए दो वाल्बो बस चलवाते हैं। दोनों एजेंसी की बसों का समय अलग-अलग है।

एक और बस खरीदने पर बढ़ा विवाद

इस बीच मनोज सिंह ने एक वाल्बो बस और खरीद ली। उसे शाम पांच बजे रायबरेली जिले के बारडीह से दिल्ली के लिए चलवाने लगे। उसी समय विजय की बस सांगीपुर बाजार से रवाना होती है। जब उनकी बस रायबरेली पहुंचती है तो सवारी नहीं मिलती है। इसी को लेकर विजय शुक्ल खुन्नस रखे हुए थे। इसी बात को लेकर तीन दिन पूर्व दोनों पक्ष में मारपीट हुई थी। तब से तनातनी चली रही थी।

बस में करने लगे तोड़फोड़

गुरुवार शाम सांगीपुर में मनोज सिंह की बस खड़ी थी। आरोप है कि तभी विजय ने अपने दर्जन भर साथियों को बुला लिया और मौके पर पहुंचकर मनोज की बस में तोड़ फोड़ करने लगे। विरोध करने पर मनोज और उनके कंडक्टर श्याम पाठक (19) पुत्र कालिका प्रसाद को जमकर मारा-पीटा। मारपीट देख मौके पर चीखपुकार मच गई। यात्री और आस-पास खड़े लोग इधर-उधर भागने लगे।

पुलिस ने सात लोगों को दबोचा

इस बीच घटना की जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को देख दोनों पक्ष के लोग इधर-उधर भागने लगे। पुलिस ने दोनों पक्ष से सात लोगों को हिरासत में ले लिया। इस बारे में एसओ सतीश कुमार ने बताया कि बस चलाने को लेकर हुए विवाद में दो संचालकों में मारपीट हुई है। सात लोगों को हिरासत में लेकर पछताछ की जा रही है। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021