प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज के सिविल लाइंस थाने के इंस्‍पेक्‍टर को निलंबित कर दिया गया है। सिविल लाइंस थाने से कुछ दिन पहले भागे एक आरोपित के मामले में इंस्पेक्टर शिशुपाल शर्मा पर शुक्रवार देर रात गाज गिरी। एसएसपी ने उनको हटाकर दारागंज इंस्पेक्टर जय प्रकाश शाही को सिविल लाइंस की कमान सौंप दी है। सूत्रों के अनुसार इंस्पेक्टर शिशुपाल शर्मा को कार्य में लापरवाही बरतने के कारण निलंबित किया गया है।

डीजीपी के समक्ष हंगामा करने वाला थाने से भाग गया था

अभी कुछ दिन पहले डीजीपी हाईकोर्ट आए थे। जब वे सरकिट हाउस में थे, तभी एक व्यक्ति उनसे मिलने के लिए जबरन पहुंच गया था। पुलिस ने उसे रोक लिया था, जिस पर उसने डीजीपी के सामने हंगामा भी किया था। सिविल लाइंस पुलिस उसे थाने ले आई थी। वह करेली क्षेत्र का रहने वाला था। रात को वह पुलिसकर्मियों की आंख में धूल झोंककर थाने से निकल गया था। हालांकि, उसे पकडऩे की कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई थी, इसलिए पुलिस ने ऐसी घटना से इन्कार कर दिया था। हालांकि पुलिस उसकी तलाश में लगातार लगी रही और सफलता नहीं मिली। कई दिन बाद भी उसे पकड़ न पाने पर शुक्रवार देर रात इंस्पेक्टर सिविल लाइंस शिशुपाल शर्मा को निलंबित कर दिया गया।

पहले दिन से ही लटक रही थी कार्रवाई की तलवार

जिस दिन पकड़ा गया व्यक्ति थाने से भागा था, उसी दिन से इंस्पेक्टर सिविल लाइंस शिशुपाल शर्मा पर कार्रवाई की तलवार लटकने लगी थी। थाने से भागे व्यक्ति को पकडऩे के लिए तमाम जगहों पर दबिश दी गई। कई लोगों से पूछताछ की गई, लेकिन उसके बारे में कोई सुराग नहीं लग सका था।

कई और पर भी हो सकती है कार्रवाई

इंस्पेक्टर शिशुपाल शर्मा के बाद अब और भी कुछ पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जा सकती है। जिस कमरे में उसे बैठाया गया था, वहां किसकी ड्यूटी थी। रात्रिकालीन चार्ज पर कौन था। इसकी बकायदा जानकारी ली जा रही है। सूत्रों का कहना है कि इन सभी पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई हो सकती है।

 

Edited By: Brijesh Srivastava