प्रयागराज, जेएनएन। जीवन और समाज में छाया अंधकार दूर करने और खुशियों का उजाला करने के लिए रविवार को दीपों का पर्व दीपावली धूमधाम से मनाने की तैयारी है। हर ओर उमंग और उल्लास के साथ उत्साह का माहौल है। शुभ मुहुर्त में घरों में लक्ष्मी-गणेश, गंगा, कुबेर और हनुमान जी के साथ ही शिवजी का विधि-विधान से पूजन कर धन-धान्य की कामना की जाएगी। 'श्री लक्ष्मी जी सदा सहाय-श्री गणेश जी सदा सहायÓ का सूत्र वाक्य लिखकर देवी देवताओं को प्रसन्न करने की तैयारी है। इसके बाद दीपदान से घर सजाए जाएंगे और फिर बच्चे पटाखे फोड़कर खुशी मनाएंगे। इन सब की तैयारी जोरों पर है।

पूजन-अर्चन की तैयारी जोरों पर कर रहे लोग

भगवान को फल-फूल अर्पित कर मिष्ठान और लाई-लावा, रेवड़ी, बताशे का भोग लगाया जाएगा। घर के सभी सदस्यों की मौजूदगी में लक्ष्मी गणेश की आरती की जाएगी। सुख समृद्धि की कामना के लिए मिट्टी के दीये में सरसों या तिल के तेल से भीगी बाती जलाकर घर के कोने-कोने में उजाला करने की तैयारी घर-घर हो रही है। किसी ने रसोई से लेकर घर की चौखट तक दीप सजाने की तैयारी कर रखी है तो आलमारी के लॉकर/सेफ में भी दीपक से उजाला किया जाएगा। दिनभर घरों की साफ-सफाई भी होती रही।

हर ओर उत्साह और उल्लास का माहौल

बच्चों और युवतियों ने बड़े उत्साह से रंगोली बनाई है। कहीं-कहीं चौक बनाकर उसी में पूजन हुआ। सुबह उठने के बाद से ही लोगों ने घर के बड़े-बुजुर्गों का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया। यह क्रम जारी है। दीपावली का खास उत्सव बच्चों के साथ मस्ती भरे माहौल में मनाने की सभी ने तैयारी कर रखी है। बच्चों के साथ युवा भी घर के आंगन, छत या बाहर खुले स्थान पर पटाखे दागने की तैयारी कर रहे हैं।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस