प्रयागराज, जेएनएन। कौशांबी जनपद में पइंसा थाना क्षेत्र के उदिहिन चौराहा के समीप केंद्र व्यवस्थापक व एक शिक्षक को पुलिस ने गिरफ्तार किया। वह गणित व जीव विज्ञान की 13 कॉपियों को बदलने के लिए मंझनपुर स्थित स्ट्रांग रूम जा रहे थे। मुकदमा दर्ज होने के बाद सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में पुलिस अधीक्षक अभिनंदन ने मामले का राजफाश किया। आरोपितों को जेल भेज दिया गया।

इंटर की गणित व जीव विज्ञान विषय की कॉपियाें के साथ पकड़े गए

पइंसा इलाके के आइमापुर गांव स्थित एनपीएस स्कूल का परीक्षा केंद्र बद्रीकेदार गांव स्थित श्याम किशोर इंटर कॉलेज में है। शनिवार को दूसरी पाली में इंटर की गणित व जीव विज्ञान की परीक्षा थी। इन दोनों विषयों की उत्तर पुस्तिका परीक्षा केंद्र के बाहर लिखी जा रही थी। इसकी सूचना पर एसपी के निर्देश पर पइंसा थाने के प्रभारी निरीक्षक योगेश तिवारी ने मामले की जांच शुरू की। जांच के बाद परीक्षा केंद्र के व्यवस्थापक सुरेंद्र सिंह पुत्र स्वर्गीय राजकरन सिंह निवासी सुल्तानपुरवारी पइंसा व शिक्षक सत्यनारायण सिंह निवासी सेमरहटा धाता फतेहपुर को पुलिस ने उदहिन के समीप गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से गणित की चार व जीव विज्ञान विषय की नौ कॉपियां बरामद हुई।

15 हजार रुपये प्रति छात्र वसूला जाता था

एसपी के मुताबिक पूछताछ में दोनों आरोपितों ने बताया कि वह एनपीएस स्कूल के प्रबंधक भानू यादव के कहने पर ऐसा करते थे। बताया कि इसके लिए प्रति छात्र 15 हजार रुपये लिया जाता था।  दोनों अपने विद्यालय के क्लर्क इंद्रजीत द्विवेदी निवासी मल्हूपुर व जयङ्क्षसह निवासी मिर्जापुर जवई पइंसा के साथ मिलकर उत्तर पुस्तिकाएं बदलते थे। गिरफ्तारी वाले दिन भी वह परीक्षा समाप्त होने के बाद उत्तर पुस्तिकाओं को मंझनपुर स्थित स्ट्रांग रूम में बदलने के लिए ले जा रहे थे।

प्रेस कान्‍फ्रेंस में बोले एसएसपी

इस संबंध में एसपी अभिनंदन का कहना है कि स्ट्रांग रूम में यदि कॉपियां बदली जा रही थीं तो किससे आरोपितों का संपर्क था। इसका भी पता लगाया जा रहा है। साथ ही अन्य फरार आरोपितों की तलाश की जा रही है।