प्रयागराज, जेएनएन। प्रतापगढ़ जिले के कुंडा कस्‍बा स्थित उप डाकघर में शनिवार को सीबीआइ टीम ने छापेमारी की। इस दौरान तीन कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया। सीबीआइ की लखनऊ ब्रांच की टीम ने यह कार्रवाई एक एजेंट की शिकायत पर की। सीबीआइ के छापे से वहां हड़कंप मचा रहा।

धनउगाही की सीबीआइ से हुई थी शिकायत

कुंडा तहसील के संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के धनगढ़ गांव के कुंवर प्रभात सिंह कुंडा उप डाकघर में एजेंट हैं। वह परिवार के साथ कुंडा कसबे के राजेंद्र नगर मोहल्ले में बनाकर रहते हैं। उन्होंने उप डाकघर में अफसर व कर्मियों द्वारा की जा रही धनउगाही की शिकायत लखनऊ की सीबीआइ ब्रांच से की थी। इसी क्रम में शनिवार दोपहर एक बजे सीबीआइ के सब इंस्पेक्टर संतोष तिवारी व अखिलेश त्रिपाठी के साथ चार अन्य अधिकारी कुंडा डाकघर पहुंचे।

सीबीआइ टीम ने लोगों को बाहर कर दरवाजा बंद कर लिया

सीबीआइ टीम ने पोस्‍ट ऑफिस में मौजूद लोगों को बाहर कर दिया और अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। इसके बाद डाक कर्मियों की तलाशी शुरू की। टीम ने अभिलेखों को खंगालना शुरू कर किया। वहां मौजूद कंप्यूटर की हार्ड डिस्क को भी अपने कब्जे में ले लिया। कैश काउंटर पर अभिकर्ताओं द्वारा जमा किए गए लाखों रुपये की भी गणना हुई। टीम ने कर्मचारियों को सीट न छोडऩे का फरमान सुनाते हुए सभी अभिकर्ताओं को बाहर कर दिया।

कैश काउंटर पर बैठै कर्मचारी का हाथ पानी में डालते ही हुआ लाल

इसके बाद सीबीआइ ने डाकघर के अभिलेखों के साथ ही कंप्यूटर, सीसीटीवी कैमरे की फुटेज व हार्ड डिस्क को अपने कब्जे में ले लिया। इस दौरान डाक सहायक सूरज कुमार मिश्रा कैश जमा कर रहे थे, उनके हाथ को एक गिलास पानी में धुलवाया तो पानी का रंग लाल हो गया, उन्हें धर दबोचा। इस दौरान सूरज से पूछताछ के बाद उप डाक पाल कुंडा संतोष कुमार और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बृजलाल को हिरासत में ले लिया। इन्हें साथ लेकर उनके घर भी गए।

डाक सहायक की डाकपाल पत्‍नी के डाकघर में पहुंची सीबीआइ

डाक सहायक बाबू सूरज मिश्रा को उनके घर कुंडा कोतवाली क्षेत्र के ओझा का पुरवा ले जाया गया। यहां से टीम बसवाही उप डाक घर गई, जहां सूरज की पत्नी गीता देवी शाखा डाक पाल है। उसके नाम से वहां मौजूद अभिलेखों की भी जांच देर शाम तक होती रही। डाक पाल संतोष को उसके देवकली स्थित घर ले जाया गया, वहां परिजनों से भी पूछताछ हुई। वहीं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बृजलाल को उसके बाघराय स्थित घर ले जाया गया। उसके घर की तलाशी ली गई।

अभिकर्ताओं से भी हुई पूछताछ

इधर, कुंडा डाकघर में मौजूद सीबीआइ के दो अधिकारी कुछ अभिकर्ताओं से पूछताछ करते रहे। सीबीआइ टीम ने देर शाम अभिकर्ताओं को बताया कि आप द्वारा कैश काउंटर पर जमा किया पैसा सीज कर दिया गया है। जांच पूरी होने के बाद ही पैसे को मुक्त किया जाएगा। सीबीआइ के एसआइ संतोष तिवारी ने बताया कि ये लोग घूस लेते हुए पकड़े गए हैं। इस बारे में वह इससे ज्यादा जानकारी नहीं दे सकते।

बोले प्रधान डाकघर के प्रवर डाक अधीक्षक

प्रधान डाकघर के प्रवर डाक अधीक्षक केएस बाजपेयी का कहना था कि सीबीआइ टीम मामले की जांच अभी कर रही है। कुछ भी बता पाना जल्दबाजी होगा। इस मामले में सारी जानकारी एकत्र करने के बाद ही बता पाउंगा।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस