प्रयागराज, जेएनएन। शहर से 40 किमी दूर हंडिया थाना क्षेत्र के भेस्की गांव में हैवानियत वाली घटना हुई। यहां 10 वर्षीय छात्र को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया, जिससे उसके दोनों हाथ कट गए। छात्र का कहना है कि स्कूल जाते समय कुछ लोगों ने चेहरे पर गमछा डालकर उसका अपहरण कर लिया और हाथ बांधकर ट्रैक पर फेंक दिया। हालांकि पुलिस का दावा है कि छात्र स्कूल नहीं गया था। वह खड़ी मालगाड़ी के नीेचे से रेलवे पटरी पार कर रहा था, तभी ट्रेन चल दी, जिससे दर्दनाक हादसा हुआ। घरवालों के डर के कारण छात्र अपहरण जैसा बयान दे रहा है। फिलहाल उसका स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में इलाज चल रहा है।

आशीष प्रयाग पब्लिक स्कूल में चौथी कक्षा का छात्र है

उतरांव थाना क्षेत्र के शिवपुर गांव निवासी रामसहारे का 10 वर्षीय बेटा आशीष पाल प्रयाग पब्लिक स्कूल में चौथी कक्षा का छात्र है। रोजाना की तरह वह गुरुवार को भी वह साइकिल से स्कूल जा रहा था। इसी दौरान ट्रेन की चपेट में आने से उसका एक हाथ पूरी तरह से कटकर अलग हो गया, जबकि दूसरा हाथ भी कट गया, लेकिन शरीर से अलग नहीं हुआ, चमड़ी जुड़ी रही। चीख-पुकार सुनकर वहां भीड़ लग गई। उधर घटना की जानकारी होते ही परिजन व तमाम गांव वाले मौके पर पहुंच गए।

बोले एसपी गंगापार, मालगाड़ी के नीचे से निकलते समय छात्र का हाथ कटा

आनन-फानन में छात्र को स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल ले जाया गया। स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने छात्र का दूसरा हाथ भी काट दिया। उधर घटना की सूचना मिली तो कुछ ही देर में एसएसपी, एसपी गंगापार समेत कई थाने की पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन में जुट गई। एसपी गंगापार एनके सिंह का कहना है कि मालगाड़ी के नीचे से निकलते समय छात्र का हाथ कटा है। पहले उसने अपहरण की बात बताई लेकिन दोबारा पूछताछ में सच्चाई बयां कर दी है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस