प्रयागराज : डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करते हुए भारतीय रेलवे में क्रिस द्वारा यूटीएस ऑन मोबाइल एप विकसित किया गया है। इसे विंडोज स्टोर या गूगल प्ले स्टोर से घर बैठे डाउनलोड कर प्लेटफार्म टिकट, अनारक्षित टिकट, सीजन टिकट घर बैठे बुक कराए जा सकते हैं। यही नहीं, इससे सीजन टिकट का नवीनीकरण भी किया जा सकता है। इस एप के माध्यम से यात्री पेपर टिकट एवं पेपर लेस टिकट किसी भी स्टेशन के लिए बुक कर सकते हैं।

एप डाउन लोड करने के लिए यह सब करें :

यूटीएस एप डाउन लोड करने के बाद सबसे पहले अपना मोबाइल नंबर, नाम, शहर, निकटतम रेलवे स्टेशन, श्रेणी, टिकट का प्रकार, यात्रियों की संख्या और यात्रा करने के मार्गों का विवरण देकर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण कराने पर यात्री का जीरो बैलेंस का रेल वॉलेट (आर-वॉलेट) स्वत: बन जाएगा। आर-वॉलेट बनाने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा। आर-वॉलेट को किसी भी यूटीएस काउंटर पर या यूपीआइ, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग  के माध्यम से रिचार्ज किया जा सकता है।

एक सौ का रिचार्ज कराने पर 105 रुपये मिलेगा :

आर वॉलेट को कम से कम सौ रुपये से रिचार्ज किया जा सकता है। इसमें अधिकतम दस हजार रुपये रखा जा सकता है। अभी इस सुविधा का लाभ लेने वाले यात्रियों को पांच प्रतिशत अधिक धनराशि दी जाएगी, अर्थात सौ रुपये का रिचार्ज कराने पर 105 रुपये मिलेगा।

रेलवे ट्रैक से 20 से 25 मीटर दूर होना जरूरी :

पेपरलेस टिकट बुक करने के लिए यात्री को रेलवे ट्रैक से कम से कम 20-25 मीटर दूर होना चाहिए। पेपरलेस टिकट सुविधा के अंतर्गत प्लेटफार्म टिकट दो किलोमीटर की परिधि एवं यात्रा टिकट  पांच किलोमीटर परिधि के अंतर्गत बुक किया जा सकता है। यात्री टीटी को एप में 'शो बुक टिकटÓ विकल्प का उपयोग कर टिकट दिखा सकते हैं।

...और आपको मिल जाएगी बुकिंग आइडी

इस एप के माध्यम से पेपर टिकट बुक करने पर यात्री को पंजीकृत मोबाइल पर एसएमएस एवं एप में बुकिंग हिस्ट्री में बुकिंग आइडी मिल जाएगी। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस