इलाहाबाद (जेएनएन)। रिक्शाचालकों को ई-रिक्शा बांटने आए नगर विकास मंत्री आजम खां ने हजार और पांच सौ रुपये के नोट बंद करने पर प्रधानमंत्री को आड़े हाथों लिया। कहा कि बादशाह सिर्फ अंबानी-अडानी का ही फायदा सोच रहे हैं। पूंजीपतियों को तीन महीने पहले ही पता था कि नोट बंद होंगे। इसलिए उन्होंने पहले ही अपना कालाधन सफेद कर लिया।

तस्वीरों में देखें- बैंक में लगी लाइन पर टूटकर गिरी रेलिंग

इलाहाबाद में तीन जिलों इलाहाबाद, मीरजापुर और प्रतापगढ़ से आए रिक्शाचालकों और सपाइयों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुने जाने के बाद वहां प्रदर्शन हो रहा है। हल्की बात कहने के बाद भी ट्रंप राष्ट्रपति चुन लिये गए। उनके चुने जाने का मतलब यह नहीं कि जो उनकी मंशा है वही सबकी मंशा है। उन्होंने कहा कि ऐसा हुआ तो चुनाव का सिस्टम ही खत्म हो जाएगा। उन्होंने सपा सरकार की नीतियों को जनहितैषी बताया और इशारों ही इशारों में चुनाव में ङ्क्षहसा की आशंका भी जताई। कहा कि देश में यह कैसा बादशाह है जो गाय-गंगा के नाम पर लोगों को लड़ाता है। संबोधन के बाद उन्होंने लाभार्थियों में ई रिक्शा का वितरण भी किया।

पढ़ें-अफवाहों पर ध्यान न दे, प्रदेश में नमक की कोई कमी नहीं- अखिलेश

Note ban: यूपी में नोट बदलने के लिए मोबाइल कैश वैन चलाने का निर्देश

पढ़ें-1000-500 के नोटों की पाबंदी से मायावती ज्यादा बेचैन : उमा भारती

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस