प्रयागराज, जागरण संवाददाता। जन-जन में राष्ट्रीयता का भाव जगाने के लिए आज रविवार को सामूहिक रूप से वंदेमातरम गायन होगा। केपी इंटर कालेज में अपराह्न दो बजे होने वाले इस आयोजन में एक लाख लोगों को शामिल करने का लक्ष्य है। माध्यमिक और परिषदीय स्कूलों के विद्यार्थी भी कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे। विद्या भारती के विद्यालयों के छात्र छात्राओं के साथ उनके अभिभावक भी आमंत्रित किए गए हैं।

आरएसएस के सह सरकार्यवाह भी हाेंगे शामिल

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण आयोजन स्थल पर 75 कलश की सजावट, 75 रंगोली जो 75 फुट लंबी होगी। इस दौरान 75 महापुरुषों की झांकी भी देखने को मिलेगी। सामूहिक वंदेमातरम की शुरुआत 75 लोग करेंगे। 7.5 वर्ष की आयु वाले बालक व बालिकाएं समूह गीत प्रस्तुत करेंगे। आयोजन में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह रामदत्त चक्रधर होंगे। अमृत महोत्सव समिति काशी प्रांत के संयोजक डा. आनंद शंकर ने लोगों से इस आयोजन में सहभागी बनने व महापुरुषों को नमन करने का आह्वान किया है।

वंदेमातरम गायन कर अमर बलिदानियों को किया नमन

अमर बलिदानियों को नमन करने का सिलसिला जारी है। अमृत महोत्सव आयोजन समिति यमुनापार की तरफ से करछना में सामूहिक वंदेमातरम गायन हुआ। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता डा. राकेश उपाध्याय रहे। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के मोल को समझना होगा। बिना इसके स्वतंत्रता को बनाए रखना कठिन है। प्रत्येक नागरिक को अपने राष्ट्र के प्रति समर्पण के भाव को भी बढ़ाना होगा। कार्यक्रम में मातृ शक्तियों ने भी उत्साह दिखाया। करीब सात हजार लोगों ने सामूहिक रूप से वंदेमातरम गायन किया। कार्यक्रम में अशोक वाजपेयी, कुलदीप त्रिपाठी, सुजीत सिंह, शिवेंद्र सिंह, नित्यानंद, अश्वनी आदि ने विचार रखे।

अधिवक्ताओं ने एक सुर में गाया वंदे मातरम

जिला न्यायालय के तमाम अधिवक्ताओं ने आयोजित अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत एक सुर में वंदे मातरम का गान किया। साथ ही 101 दीप जलाकर शहीरों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। राष्ट्रीय अधिवक्ता परिषद राष्ट्रीय महामंत्री सत्य प्रकाश राय और ईश्वर शरण इंटर कालेज के प्रधानाचार्य आनंद शंकर ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि आजादी के समय तथा उसके पूर्व आजादी कैसे मिली कैसे लड़ी गई। प्रयागराज में आजादी कैसे लड़ी गई किन-किन लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दी। कार्यक्रम को संगठन के कृष्ण बिहारी तिवारी, निर्मल पटेल, विजय मिश्र, मंजू सिंह, आशीष शुक्ल, हीमा पाल, राम मणि शुक्ल, सुधीर तिवारी, आलोक पांडे समेत अन्य ने संबोधित किया।

Edited By: Brijesh Srivastava