प्रयागराज, जेएनएन। एक लाख के ईनामी मोस्ट वांटेड मणिलाल पाटीदार का अब बैंक खाता सीज किया जाएगा। इसकी तैयारी भी पुलिस ने शुरू कर दी है। छानबीन में पता चला है कि मणिलाल ने कई माह पहले अपनी पत्नी के एकाउंट में 17 लाख रुपये ट्रांसफर किए थे। अब उसकी गिरफ्तारी होने पर पूछताछ की जाएगी कि उसके पास एकमुश्त इतनी रकम कहां से आई थी।

जोनल टीम के प्रभारी एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा का कहना है कि स्टेट बैंक आफ इंडिया व बैंक आफ बड़ौदा में मणिलाल पाटीदार का खाता है। इन दोनों खातों की जांच में पत्नी के नाम ट्रांसफर की गई रकम के बारे में पता चला है। कुछ और बैंकों में भी खाता होने की बात सामने आ रही है, जिसके संबंध में बैंक से जानकारी मांगी गई है। साथ ही पिता, पत्नी व अन्य के बैंक खातों, उसमें डाली गई रकम व आय के स्रोत के बारे में भी छानबीन चल रही है। घरवालों से पूछताछ में पता चला है कि होली के दौरान मणिलाल की अपनी पत्नी व परिवार वालों से बातचीत हुई थी। मगर जब उस नंबर को ट्रेस किया गया तो किसी और के नाम पर सिम लिया गया था। इसके चलते उसके बारे में फिलहाल कोई सुराग नहीं मिल रहा है।

राजस्थान में महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल ने कितनी चल व अचल संपत्ति बनाई है, इसकी तफ्तीश भी चल रही है। ताकि लखनऊ की एंटी करप्शन कोर्ट से अनुमति लेकर सभी संपत्तियों को सीज किया जा सके। हालांकि कुर्की की नोटिस पहले ही चस्पा किया जा चुका है और गिरफ्तारी न होने पर 174 (अ) के तहत कई माह पहले मुकदमा लिखवाया गया था। महोबा के क्रेशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी की मौत और भ्रष्टाचार के आरोप में फंसे भगोड़े आइपीएस की गिरफ्तारी के लिए स्पेशल टास्क फोर्स व पुलिस की कई टीमें लगी हैं, लेकिन अब तक अभियुक्त पकड़ से दूर है।

 

Edited By: Rajneesh Mishra