इलाहाबाद : लोक निर्माण विभाग की उपेक्षा के चलते मीरजापुर-इलाहाबाद-झांसीमार्ग पर स्थित पांडर गांव के सामने गड्ढा युक्त सड़क लोगों की परेशानी का कारण बन गई है। इस पर यात्रा करने वाले लोग हादसे का शिकार बन चुके हैं। इसके बावजूद विभाग का इस जर्जर सड़क की हालत दिखाई नहीं दी। इससे लोगों में आक्रोश व्याप्त है।

मीरजापुर-इलाहाबाद-झांसी मार्ग पर गौहनिया से लोहगरा के बीच सड़क पूरी तरह से जर्जर है। मार्ग पर आए दिन दुर्घटनाएं होती हैं। लोगों का कहना है कि प्रदेश में सत्ता में आई भाजपा ने सरकार बनाई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का निर्देश दिया। इससे लोक निर्माण विभाग भी हरकत में आया लेकिन इसका असर बारा क्षेत्र में दिखाई नहीं दिया। प्रदेश सरकार के कार्यकाल को एक वर्ष से अधिक का समय पूरा होने के बाद भी मीरजापुर-इलाहाबाद-झांसी मार्ग पर स्थित जसरा, पांडर, बारा, लोहगरा में जर्जर सड़कों की किसी ने सुध नहीं ली गई। सबसे खतरनाक पांडर गांव के सामने की सड़क है जहां सड़क पर छोटे-बड़े गड्ढे हैं कभी दोनों तरफ से आने वाले वाहन गड्ढों से बचने में आपस में टकरा जाते हैं तो कभी खेत में पलट जाते हैं। इससे उसमें सवार लोग हादसे का शिकार हो रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि बार-बार शिकायत के बावजूद विभाग के अधिकारी उदासीन बने हैं। उनका कहना है कि नई सरकार बनने से उन्हें उम्मीद थी कि अब क्षेत्र की सड़कों के भी दिन बहुरेंगे। हालांकि लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के चलते उन्हें मायूस ही होना पड़ रहा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021