प्रयागराज, जेएनएन : पार्टी हाईकमान की लाख कवायद के बाद भी स्थानीय कांग्रेसियों में गुटबाजी खत्म होने का नाम नहीं ले रही। ताजा मामला दो नेताओं में तीखी नोकझोंक का सामने आया है। फोन पर हुई दोनों की बातचीत का ऑडियो तेजी से वायरल हो रहा है। जबकि दूसरा मामला भी गुरुवार का है। उन्नाव कांड को लेकर आयोजित हवन कार्यक्रम में भी दो नेता आपस में उलझ गए। दोनों ही मामलों को लेकर पार्टी के अंदर सियासत गर्म है।

बुधवार को उन्नाव कांड को लेकर कलेक्ट्रेट में कांग्रेसियों का उपवास कार्यक्रम था। दूसरे दिन खबर अखबार में छपी तो उसमें कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के महानगर अध्यक्ष अरशद अली अर्शी का नाम गायब था। बस सियासत की शुरुआत यहीं से शुरू हो गई। अर्शी ने पार्टी के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता किशोर वाष्र्णेय पर विज्ञप्ति में नाम न देने का आरोप लगाया। इतना ही नहीं बाद में दोनों नेताओं की मोबाइल पर इस बात को लेकर तीखी नोकझोंक भी हुई। एक दूसरे को धमकी भी दी गई। मामला यहीं खत्म नहीं हुआ। ऑडियो वायरल होने के बाद किशोर वाष्र्णेय के बेटे अभिनव वाष्र्णेय ने भी अर्शी से मोबाइल पर बहस की। दोनों नेताओं ने एक-दूसरे को देख लेने तक की धमकी भी दी। नेताओं की मोबाइल पर हुई नोकझोंक का ऑडियो तेजी से वायरल हुआ तो खलबली मच गई। कुछ वरिष्ठ नेताओं को बीच में आकर मामला शांत कराना पड़ा। उधर उन्नाव कांड के ही विरोध में बालसन चौराहा स्थित महर्षि भारद्वाज मुनि की प्रतिमा के पास गुरुवार को आयोजित हवन कार्यक्रम के दौरान मीडिया में बाइट देने को लेकर दो कांग्रेसी आपस में भिड़ गए। दरअसल, उप्र कांग्रेस कमेटी के आह्वान और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका वाड्रा केनिर्देश पर उन्नाव रेप पीडि़ता के स्वास्थ्य में सुधार की कामना के लिए बुधवार को हवन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यहीं पर मीडिया को बाइट देने पर दोनों कांग्रेस आपस में भिड़ गए। मामला इतना बढ़ गया कि दोनों में मारपीट की नौबत आ गई।  हालांकि, वरिष्ठ नेताओं ने बीचबचाव कर मामला शांत कराया। दोनों ही मामलों को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेता कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021