प्रयागराज, जेएनएन। धूमनगंज थाना क्षेत्र में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां का रहने वाला अजय कुमार विश्वकर्मा ने अपने इलाज की खातिर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआइ) की मुंडेरा शाखा में सेंध लगा दी। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने उसे दबोच लिया। 

कान के आपरेशन में डॉक्टर ने बताया था चार लाख रुपये का खर्च 

पूछताछ में पता चला कि अजय लाल बिहारा बमरौली मुहल्ले का रहने वाला है। वह अपने पिता बनवारी लाल के साथ फर्नीचर बनाने का काम करता है। अजय को एक कान से सुनाई कम देता है। कुछ दिन पहले वह इलाज कराने के लिए डॉक्टर के पास पहुंचा। डॉक्टर ने ऑपरेशन करने की बात कही और बताया कि करीब चार से पांच लाख रुपये खर्च होंगे। इस पर उसने बैंक में चोरी की योजना बना डाली। एक रात वह बाउंड्री फांदकर बैंक में घुस गया। आरी से खिड़की की ग्रिल काटकर और शीशा तोड़कर भीतर दाखिल हुआ। फिर लॉकर वाले कमरे की कुंडी काट डाली। लॉकर काटने में कामयाब न हुआ तो वापस निकलकर घर जाने लगा। 

...और उसे पुलिस ने पकड़ लिया 

लॉकर न कटने से मायूस होकर जब वह वापस लौट रहा था, तभी गश्त कर रहे चौकी इंचार्ज टीपी नगर अरविंद यादव, सिपाही चंद्रशेखर राय, पीयूष यादव की उस पर नजर पड़ी। पसीने से भीगने के कारण संदेह हुआ तो तलाशी ली गई। तलाश में उसके पास से दो आरी, प्लास और बम बरामद हुए। बैंक खुलने पर घटना की जानकारी हुई। 

बोले इंस्पेक्टर धूमनगंज 

इंस्पेक्टर धूमनगंज जेपी शर्मा ने सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो पता चला कि रात पौने तीन बजे एक शख्स भीतर घुसा और एक घंटे बाद बाहर निकला। फुटेज मिलने के बाद अजय से पूछताछ हुई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर दिया। इसके बाद मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। 

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप