कौशाम्बी, जेएनएन। झारखंड में धनबाद के जज पर हमले के प्रकरण की जांच के बीच में ही कौशाम्बी में भी कुछ ऐसा मामला सामने आया है। गुरुवार को प्रयागराज से फतेहपुर जा रहे फतेहपुर के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (स्पेशल जज पॉक्सो) मोहम्मद अहमद खां की गाड़ी में टक्कर मारकर इनोवा सवार बदमाशों ने लूट का प्रयास किया। इस मामले में जज की तहरीर पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज करने के साथ पुलिस ने जज की कार में टक्कर मारने वाली इनोवा के चालक को हिरासत में ले लिया है।

झारखंड के धनबाद में जज उत्तम आनंद की हत्या को दुर्घटना का रूप देने की कोशिश के बीच में ही उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी में गुरुवार शाम को की फतेहपुर में तैनात अपर जिला जज मोहम्मद अहमद खां की कार में इनोवा से टक्कर मारी गई। जज की गाड़ी में टक्कर मारने के बाद लूट के प्रयास के मामले में मोहम्मद अहमद खां की तहरीर पर केस दर्ज किया गया है।

कौशाम्बी के कोखराज थाने के चाकवन चौराहे पर फतेहपुर में तैनात अपर जिला सत्र न्यायाधीश की गाड़ी में टक्कर मारकर हत्या का प्रयास किया गया। फतेहपुर में तैनात जिला सत्र न्यायाधीश मो अहमद खान प्रयागराज से फतेहपुर जा रहे थे। वह कोखराज के चाकवन चौराहे पर पंहुचे ही थे कि इनोवा लोगों ने उनकी कार में टक्कर मार दी। इससे अपर जिला जज तथा गनर को चोट आई। इसके बाद जज ने कोखराज थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास का केस दर्ज करने की तहरीर दी। पुलिस ने बताया कि जज की कार में टक्कर मारने वाली इनोवा में संतोष कुमार तथा मुकेश कुमार सवार थे। इस प्रकरण में शहजादपुर गांव के मोहम्मद उमर के खिलाफ मुकदमा लिख लिया है। इंस्पेक्टर ने आरोपित को हिरासत मे ले लिया है।

फतेहपुर में तैनात जिला सत्र न्यायाधीश मोहम्मद अहमद खां न्यायिक कार्य के लिए प्रयागराज आए थे। इसके बाद गुरुवार की देर शाम वह फतेहपुर लौट रहे थे। वह कौशाम्बी के कोखराज के चाकवन चौराहे पर पंहुचे ही थे कि पीछे से आ रहे इनोवा सवार बदमाशों ने ओवरटेक कर उनकी कार में टक्कर मारकर लूट का प्रयास किया। इसमें विफल होने पर वह भाग निकले।

एडीजे मोहम्मद अहमद खां ने तहरीर में लिखा है कि बरेली में दिसंबर 2020 में एक मुस्लिम युवक की जमानत खारिज करने के दौरान उन्हें जान से मार देने की धमकी मिली थी। वह युवक कौशाम्बी का ही रहने वाला है। पुलिस ने इनोवा बरामद कर ड्राइवर को पकड़ लिया है। कार चालक से पूछताछ की जा रही है। स्पेशल जज ने इसे साजिश बताया है। वह कुछ साल पहले इलाहाबाद जिला न्यायालय में एसीजेएम थे। स्पेशल जज के साथ हुई इस घटना से परिवार वाले परेशान हैं।

Edited By: Dharmendra Pandey