प्रयागराज, जागरण संवाददाता। आतंकी हमले की साजिश को नाकाम करने वाली आंतकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) की टीम ने बुधवार को भी सर्च आपरेशन चलाया। संदिग्ध आतंकी मोहम्मद जीशान कमर की गिरफ्तारी के दूसरे दिन भी तीन मददगारों को उठाया गया है। उन सभी से पूछताछ चल रही है और उनकी आतंकी गतिविधियों में संलिप्तता की जांच हो रही है। एसटीएस की कार्रवाई से करेली समेत कई मोहल्लों में दिनभर खलबली मची रही। जीशान के कई करीबी और परिचित तो भूमिगत हो गए हैं।

मदरसा संचालक से दिल्ली में रहने वाले भाई के बारे में पूछताछ

सूत्रों का कहना है कि मंगलवार को एटीएस ने पुलिस की मदद से जांच, छापेमारी और गिरफ्तारी की कार्रवाई की थी, मगर बुधवार को एटीएस ने अकेले ही आपरेशन शुरू किया। बताया जाता है कि टीम ने करेली के वसीयाबाद स्थित अफजलुल सारिफ मदरसा के संचालक मुफ्ती सैफुर्रहमान से दिल्ली में रहने वाले उनके भाई के बारे में लंबी पूछताछ की। पता चला है कि दिल्ली निवासी शख्स भी कुछ दिन पहले विदेश गया था। जबकि तिरंगा चौराहे पर रहने वाले दूसरे भाई उबैदुर्रहमान के बारे में जानकारी ली। मगर घरवालों ने उनके बारे में कुछ भी पता होने से अनभिज्ञता बताई। बस इतना ही कहा कि लखनऊ जाने की बात कहकर घर से निकले थे, उसके बाद से मोबाइल बंद है।

स्लीपर माड्यूल के तीन हैंडलर को उठाया गया

वसीयाबाद के बाद एटीएस की टीम ने जीटीबी नगर के एक डाक्टर, ट्रैवेल एजेंट समेत कई अन्य के यहां पहुुंचकर जानकारी जुटाई। साथ ही अलग-अलग मोहल्ले में दबिश देकर स्लीपर माड्यूल के कथित तीन हैंडलर को भी पूछताछ के लिए उठाया गया। एटीएस के साथ ही खुफिया एजेंसी भी अपने-अपने स्तर पर आतंकी गतिविधियों से जुड़ी जानकारी जुटाने और संदिग्ध लोगों की टोह लेने में जुटी रही। सूत्रों का दावा है कि सर्च आपरेशन आगे भी जारी रह सकता है।

Edited By: Ankur Tripathi