प्रयागराज, जेएनएन। प्रतापगढ़ जिला अस्पताल (अब राजकीय स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय) में भर्ती कराए गए एक बुजुर्ग मरीज को सांस लेने में दिक्कत थीl हालत गंभीर होने पर उसे बुधवार की सुबह करीब 8:00 बजे प्रयागराज के लिए रेफर किया गयाl जब लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस के चालक श्याम यादव और इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन आदर्श पांडे मरीज को लेकर चले तो घर वालों ने उसे जबरन लखनऊ चलने के लिए कह दिया।  इस दौरान सलवन कस्बे के पास मरीज ने दम तोड़ दिया तो मरीज के साथ मौजूद लोग आपा खो बैठे। उन्होंने एंबुलेंस के दोनों कर्मचारियों को मारा पीटाl 

घर पहुंचने तक करते रहे ड्राइवर और हेल्पर से मारपीट

एंबुलेंस मोड़ कर घर लाने तक रास्ते भर मारते पीटते और गाली देते रहेl किसी तरह यह लोग शहर के पास पहुंचे और पुलिस को पूरा मामला बताकर आऱोपितों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की। एसपी के हस्तक्षेप पर पुलिस ने सुखपाल नगर में एंबुलेंस को अपने कब्जे में लेकर आरोपितों को पकड़ाl हमले के विरोध में एंबुलेंस कर्मियों ने हड़ताल की चेतावनी दी, जिस पर एसडीएम सदर और सीओ सिटी जिला अस्पताल पहुंचकर कर्मियों को मनाने में लगे रहेl हालांकि हड़ताल नहीं की गई और बाद में एंबुलेंस यूनियन के लोग शांत हो गए।


यूनियन अध्यक्ष का है कहना

एंबुलेंस यूनियन के अध्यक्ष मधुकर सिंह ने बताया कि आरोपियों पर कार्रवाई के लिए तहरीर दी गई हैl जनहित में हम हड़ताल नहीं कर रहे हैं l