प्रयागराज, जेएनएन। बाबा अमरनाथ यात्रा को लेकर पूरे देश में आस्‍था का माहौल है। प्रयागराज में भी उल्‍लास के साथ आस्‍था उमड़ रही है। यहां से भक्‍तों का जत्‍था भक्‍त बाबा का दर्शन करने ट्रेन, बस आदि वाहनों से रवाना हो रहा है। ऊं नमह शिवाय के जयकारों के बीच अमरनाथ यात्रा पर निकले शिवभक्तों को उनके परिवार के लोग, मित्र, रिश्‍तेदार गाजा-बाजा के साथ रवाना कर रहे हैं।

उधमपुर एक्सप्रेस से रवाना हुए शिवभक्त : संगम नगरी से शिवभक्तों का जत्था शुक्रवार को बाबा अमरनाथ का दर्शन करने के लिए यात्रा पर निकला। हर-हर महादेव के जयकारों के बीच शिवभक्त उधमपुर एक्सप्रेस से दर्शन करने के लिए रवाना हुए। हर-हर महादेव की जय, त्रिनेत्रधारी की जय, बाबा बर्फानी की जय के उद्घोष से प्रयागराज जंक्शन गूंज उठा। अन्य जगहों पर जाने वाले लोग भी शिवभक्तों के साथ जयकारा लगाने लगे, पूरा माहौल शिवमय हो गया। 10 जुलाई को शिवभक्त दर्शन कर प्रयागराज वापस आएंगे।

दो वर्ष बाद बाबा के दर्शन को मिली अनुमति तो खिले चेहरे : प्रयागराज नगर निगम कार्यकारिणी के उपाध्यक्ष अखिलेश सिंह, भोला सोनकर, सुनील साहू, मनोज कुमार, राजेश कुमार, आकाश कुमार सहित 16 लोग संगम स्नान के बाद बाबा अमरनाथ का दर्शन करने निकले। कोरोना के कारण दो वर्ष के बाद अमरनाथ यात्रा की अनुमति मिलने से शिवभक्तों के गजब का उत्साह झलक रहा था।

मुस्लिम पार्षदों ने दी विदाई : अखिलेश सिंह ने बताया कि अमरनाथ यात्रा की शुरुआत वर्ष 2005 से उन्‍होंने की थी। उस समय 150 शिवभक्त दर्शन के लिए गए थे। गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश करते हुए अमरनाथ यात्रा पर निकले शिवभक्तों को पार्षद मोइन उद्दीन, इस्तकार, जुबेर खान स्टेशन पर विदाई देने पहुंचे। यात्रा पर जा रहे शिवभक्तों का लोगों ने चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया।

Edited By: Brijesh Srivastava