प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) में स्थायी कुलपति के चयन की तैयारी जोरों पर है। कुलपति की दौड़ में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के भी तीन शिक्षक हैं। प्रो. रतन लाल हांगलू ने 31 दिसंबर 2019 को कुलवति के पद से इस्तीफा दिया था। इसने बाद ये यहां स्थायी कुलपति की नियुक्ति नहीं हो सकी है। इसके लिए 21 से 25 अगस्त तक ऑनलाइन इंटरव्यू होगा। इस संबंध में शिक्षा मंत्रालय की तरफ से शार्ट लिस्टेड आवेदकों को पत्र भेज दिया गया है।

स्क्रीनिंग के बाद 413 आवेदकों में 15 शिक्षाविदों को इंटरव्यू के लिए चुना गया

प्रो. रतन लाल हांगलू द्वारा 31 दिसंबर 2019 को पद से इस्तीफा देने के बाद कार्यवाहक कुलपति के भरोसे कामकाज चल रहा है। इस संबंध में मंगलवार को दिल्ली में सर्च कमेटी की पहली बैठक हुई थी। स्क्रीनिंग के बाद 413 आवेदकों में 15 शिक्षाविदों को इंटरव्यू के लिए चुना गया। इनमें इलाहाबाद विश्वविद्यालय से भी तीन शिक्षक हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के चलते ऑनलाइन इंटरव्यू कराया जाएगा। यह प्रक्रिया 21 से 25 अगस्त तक पूरी होगी। इसके बाद कमेटी बंद लिफाफे में नाम मंत्रालय को भेज देगी। फिर विजिटर यानी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से चर्चा के बाद कुलपति के नाम पर अंतिम मुहर लगेगी। आसार यही हैै कि सितंबर में इविवि को स्थायी कुलपति मिल जाएगा।

मुविवि के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा सितंबर में कराने की तैयारी

उत्तर प्रदेश राजॢष टंडन मुक्त विश्वविद्यालय में प्रदेश भर में अध्ययनरत प्रथम और द्वितीय वर्ष के शिक्षाॢथयों को परीक्षा के बिना ही अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया गया। अब विश्वविद्यालय प्रशासन सितंबर में अंतिम वर्ष की वार्षिक और सेमेस्टर परीक्षा कराने की तैयारी में है। जल्द ही परीक्षा का विस्तृत कार्यक्रम भी जारी कर दिया जाएगा।

यूजीसी ने केवल अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने का दिया है निर्देश

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने केवल अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने का निर्देश दिया है। इसी क्रम में मुविवि ने पिछले महीने कार्य परिषद की बैठक में परीक्षा पर सर्वसम्मति से प्रोन्नत करने का फार्मूला भी तय कर लिया था। तय फार्मूले के मुताबिक मुविवि से जुड़े प्रदेश भर में अंतिम वर्ष को छोड़कर तकरीबन 50 हजार से अधिक शिक्षार्थी प्रोन्नत किये जाएंगे। इन सभी को विश्वविद्यालय प्रशासन ने अगली कक्षा में प्रोन्नत भी कर दिया। अब अगली कक्षा में शिक्षार्थियों को जो अंक प्राप्त होगा, उसके आधार पर उन्हेंं पिछले वर्ष अंक प्रदान किया जाएगा।

अंतिम वर्ष की इन कोर्सों की परीक्षाएं सितंबर में होंगी

इसके अलावा अंतिम वर्ष की वार्षिक और सेमेस्टर तथा सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और पीजी डिप्लोमा की परीक्षाएं सितंबर में कराने की तैयारी चल रही है। जल्द ही परीक्षा का विस्तृत कार्यक्रम भी जारी कर दिया जाएगा। विश्वविद्यालय प्रशासन 25 अगस्त से ही परीक्षा कराने की तैयारी में था। हालांकि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते शैक्षणिक संस्थान बंद होने की वजह से परीक्षा स्थगित करना पड़ा।

बोले, उप्र राजर्षि टंडन मुक्‍त विवि के कुलपति

उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विवि के कुलपति प्रो. कामेश्वर नाथ सिंह कहते हैं कि अंतिम वर्ष को छोड़कर सभी शिक्षार्थियों को अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया गया है। अंतिम वर्ष की परीक्षा का कार्यक्रम जल्द ही जारी कर दिया जाएगा। फिलहाल सितंबर में परीक्षा कराने की तैयारी है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस