प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) और संघटक कॉलेजों में दाखिले के लिए कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालन के साथ परीक्षा शुरू हो चुकी है। आज रविवार को पहली पाली में बीए, बीएफए व बीपीए और दूसरी पाली में बीएएलएलबी की प्रवेश परीक्षाएं होंगी। बीए, बीएफए व बीपीए के लिए कुल 33063 और बीएएलएलबी के लिए 8062 अभ्‍यर्थियों ने आवेदन किया है। प्रवेश परीक्षाएं ऑनलाइन और ऑफलाइन में कराई जाएंगी। परीक्षा दो पालियों सुबह 9:30 से 11:30 और दोपहर दो से शाम चार बजे तक होगी।

बीकॉम में दाखिले को विदेशी छात्र ने दी ऑनलाइन परीक्षा

इसके पूर्व प्रवेश परीक्षा शनिवार से शुरू हुई। पहले दिन 11 शहरों के 77 केंद्रों पर शांतिपूर्वक प्रवेश परीक्षा सम्पन्न हुई। ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड में हुई परीक्षा में दोनों पालियों में 75.56 फीसद अभ्यर्थी शामिल हुए। बीकॉम में दाखिले के लिए विदेशी छात्र मो. अब्बास ने भी ऑनलाइन मोड में परीक्षा दी। हालांकि, तकनीकी खामियों की वजह से उसकी परीक्षा एक घंटे देरी से शुरू हो सकी। प्रश्नपत्र संतुलित होने से परीक्षार्थियों को भी परेशानी नहीं हुई।

5294 ने परीक्षा दी और 2457 ने परीक्षा छोड़ी

इसी तरह, ऑनलाइन मोड में दोनों पालियों में 7751 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। इसमें से 5294 ने परीक्षा दी और 2457 ने परीक्षा छोड़ दी। ऐसे में ऑनलाइन मोड में कुल 68.30 फीसद अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। दोनों पालियों में दोनों मोड (ऑनलाइन-ऑफलाइन) में कुल 35658 अभ्यर्थी पंजीकृत थे और 26946 ने परीक्षा दी। जबकि, 8712 ने परीक्षा छोड़ दी। ऐसे में कुल 75.56 फीसद ने परीक्षा दी। दूसरी पाली में संपन्न बीकॉम की प्रवेश परीक्षा में ओमान से घर बैठकर मो. अब्बास ने भी प्रवेश परीक्षा में हिस्सा लिया। उसकी परीक्षा एक घंटे देरी से शुरू हो सकी। इविवि प्रशासन ने उसके लिए विशेष व्यवस्था की थी।

प्रयागराज में सर्वाधिक परीक्षार्थी

प्रवेश प्रकोष्ठ के सदस्य डॉ. शैलेंद्र राय ने बताया कि प्रवेश परीक्षा के लिए 11 शहरों में कुल 77 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों परीक्षा केंद्र हैं। प्रयागराज के अलावा लखनऊ, वाराणसी, झांसी, गोरखपुर, कानुपर, पटना, नई दिल्ली में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार के परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जबकि बंगलुरू, कोलकाता, तिरुवनंतपुरम में केवल ऑनलाइन परीक्षा होगी। दोनों मोड में हुई प्रवेश परीक्षा में प्रयागराज में सर्वाधिक परीक्षार्थी रहे। यहां ऑफलाइन मोड में पहली पाली में सर्वाधिक 81.05 और दूसरी पाली में 84.94 फीसद और ऑनलाइन मोड में पहली पाली में 74.95 और दूसरी पाली में 76.98 फीसद ने प्रवेश परीक्षा दी।

परीक्षा केंद्रों पर दौड़ता रहा प्रॉक्टोरियल बोर्ड

प्रयागराज में बनाए गए केंद्रों पर खुद कार्यवाहक कुलपति प्रोफेसर आरआर तिवारी, रजिस्ट्रार प्रो. एनके शुक्ल, प्रवेश प्रकोष्ठ के निदेशक प्रो. प्रशांत अग्रवाल चीफ प्रॉक्टर प्रो. आरके उपाध्याय के अलावा प्रॉक्टोरियल बोर्ड की टीम पहुंची। शहर में परीक्षा सुचारू रूप से सम्पन्न कराने के लिए पहली पाली में उडऩदस्ते की नौ और दूसरी पाली में छह टीम बनाई गई थी। अन्य शहरों के केंद्रों पर यहां से 18 सदस्यों की टीम बनाकर भेजी गई थी। साथ ही सीसीटीवी से भी केंद्रों की निगरानी होती रही। हालांकि, किसी केंद्र पर अव्यवस्था की सूचना नहीं मिली।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप