प्रयागराज, विधि संवाददाता। समाजवादी पार्टी के फायर ब्रांड नेता और शामली जिले की कैराना सीट से विधायक नाहिद हसन को आज बुधवार इलाहाबाद हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। हाई कोर्ट ने गैंगस्टर मामले में नाहिद हसन की जमानत अर्जी मंजूर कर ली है। कोर्ट ने हसन की बीमारी की गंभीरता को देखते हुए उन्हें जमानत पर जेल से रिहा किए जाने का आदेश दिया है। यह आदेश न्यायमूर्ति कृष्ण पहल ने दिया है।

सपा विधायक पर शामली में दर्ज हुआ था गैंगस्‍टर का मुकदमा : उल्‍लेखनीय है कि सपा विधायक नाहिद हसन के खिलाफ शामली के कैराना थाने में ही पिछले वर्ष गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज हुआ था। कई दूसरे मामलों में उन्हें हाई कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट से पहले ही राहत मिल चुकी है, लेकिन गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज होने की वजह से वह जनवरी महीने से जेल में ही हैं।

हसन कैंसर के थर्ड स्‍टेज में हैं : इलाहाबाद हाई कोर्ट को बताया गया कि विधायक नाहिद हसन कैंसर की बीमारी से गंभीर रूप से पीड़ित हैं। उनकी बीमारी थर्ड स्टेज पर है और उन्हें तुरंत बेहतर इलाज की जरूरत है। यह भी दलील दी गई कि इस केस से जुड़े हुए दूसरे आरोपियों को पहले ही जमानत मिल चुकी है।

यूपी के चित्रकूट जेल में बंद हैं सपा विधायक : हाई कोर्ट ने सपा विधायक नाहिद हसन को जमानत पर जेल से रिहा किए जाने का आदेश दिया है। नाहिद हसन इन दिनों यूपी की चित्रकूट जेल में बंद हैं।

विधायक नाहिद हसन के जेल से बाहर आने का रास्‍ता साफ : विधायक नाहिद हसन के वकील प्रशांत व्यास का कहना था कि उनके खिलाफ कुल 13 मुकदमे दर्ज हुए थे। इनमें से कुछ मुकदमों में फाइनल रिपोर्ट लग चुकी है या फिर निचली अदालतों से लेकर हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल चुकी है। जमानत मिलने से सपा विधायक नाहिद हसन को आज बड़ी राहत मिली है। उनके जेल से बाहर आने का रास्ता लगभग साफ हो गया है।

Edited By: Brijesh Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट