प्रयागराज : कुंभ मेला क्षेत्र में चोरी, लूट और टप्पेबाजी की घटना के बाद पुलिस ने भी ताबड़तोड़ छापेमारी की। क्राइम ब्रांच, दारागंज और झूंसी पुलिस ने संयुक्त रूप से अभियान चलाते हुए 15 लोगों को टप्पेबाजी के आरोप में दबोच लिया। दबिश के दौरान ही पुलिस को मेला क्षेत्र में विदेशी युवती का लूटा गया पर्स भी मिल गया। हालांकि पर्स में 10 हजार रुपये नहीं मिले। इसी तरह कई और श्रद्धालुओं का सामान भी बरामद हुआ है।

लिथुआनिया की युवती कुंभ मेला में आई थी घूमने

कुछ दिन पहले लिथुआनिया देश की युवती डिपमेंटे पिरायटिटे अपनी सहेलियों के साथ कुंभ मेला घूमने आई थी। पिछले दिनों भोर में वह कुंभ मेला क्षेत्र में घूमते हुए पायलट बाबा आश्रम के पास पहुंची। वहां भीड़ अधिक होने के कारण जूना अखाड़ा शिविर के पास रुक गईं। इसी दौरान किसी ने उनका काले रंग का ट्रैवल बैग गायब कर दिया। बैग में 10 हजार रुपये, वीजा समेत अन्य जरूरी कागजात थे। घटना के बाद पीडि़ता ने ऑनलाइन एफआइआर दर्ज कराई थी। शुक्रवार को जब बैग मिलने की खबर डिपमेंटे को मिली तो वह दारागंज थाने पहुंची।

 वहां इंस्पेक्टर दारागंज विनीत सिंह, चौकी प्रभारी संगम आलोक पांडेय की सराहना की। इस पर पुलिस ने भी मिठाई देकर विदेशी युवती समेत अन्य को सम्मानित किया। पुलिस का कहना है कि टप्पेबाजी करने वाली महिलाओं से सामान बरामदगी के बारे में पूछताछ की जा रही है।

श्रद्धालुओं और पर्यटकों के सामान सुरक्षित नहीं

कुंभ मेले की सांस्कृतिक विरासत पर बट्टा लगाने में चोर, उचक्कों ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ रखी है। एक ओर सरकार कुंभ मेले के प्रचार और प्रसार कर रखा है तो दूसरी ओर चोर उचक्के भी हैं, जो देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं और पर्यटकों के चोरी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। लोगों का कहना है कि इससे कुंभ मेला क्षेत्र में दूर-दूर से आने वाले लोगों में प्रयागराज की छवि पर भी असर पड़ सकता है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस