प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना की पहली और दूसरी लहर ने लाखों लोगों की रोजी और रोटी छीन ली। खासतौर पर महानगरों में फैक्ट्रियों या कारखानों में पगार के सहारे गुजारा करने वाले गांव में रहने वाले लोग तो बड़ी मुश्किल में फंस गए। अब कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद महानगरों के कारखानों में काम शुरू हुआ तो छोटे शहरों और कस्बों से लोग महानगरों के लिए रवाना हो रहे हैं लेकिन राह में उनके सामने तमाम तरह की समस्याएं सामने आ रही हैं। बाकी दिक्कतों से तो वे पार भी पा जाते हैं लेकिन जब कोई अनहोनी ही पीछे पड़ गई हो तो क्या करें। सोमवार की देर रात ऐसा ही दुखद वाकया हुआ प्रयागराज के झूंसी में हुआ जहां मुंबई के लिए ट्रेन में बैठने जा रहे आटो सवार चार लोग एक बेकाबू ट्रक की चपेट में आ गए। आटो बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। उसमें बैठे एक लड़के की मौत हो गई जबकि तीन लोग गंभीर जख्मी हुए जिन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।

झूंसी थाने के सामने हो गई अनहोनी

प्रयागराज समेत आसपास के जिलों के हजारों लोग जीवन यापन के लिए घर छोड़कर महानगरों में जाकर काम करते हैं। मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद समेत अन्य महानगरों में वे कंपनियों या फैक्ट्रियों में नौकरी करते हैं या फिर मजदूरी करते हैं। कोरोना की दूसरी लहर फैलने पर इन लोगों को घर लौटना पड़ा। अब हालात सामान्य होने पर ये कामगार और अन्य बेरोजगार युवा महानगरों में काम की तलाश में रवाना हो रहे हैं। इसी तरह सोमवार शाम फूलपुर, प्रतापगढ़ और जौनपुर के चार युवक मुंबई की ट्रेन में बैठने के लिए एक आटो से प्रयागराज रेलवे जंक्शन के लिए रवाना हुए थे। जौनपुर से वाया फूलपुर होकर प्रगागराज आ रहा टेंपो झूंसी थाने के सामने पहुंचा तभी उसमें पीछे से ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी। जबरदस्त टक्कर ने आटो में सवार 18 साल के मोहम्मद सैफ पुत्र कल्लू की जान ले ली। वह जौनपुर के मड़ियाहूं इलाके का रहने वाला था। यहां कोई काम नहीं मिला तो मुंबई जा रहा था। साथ मौजूद प्रयागराज के फूलपुर का 22 साल का इमरान और उसका बड़ा भाई 30 वर्षीय इरफान तथा बंधवा बाजार पट्टी प्रतापगढ़ का रहने वाला अफजल घायल हो गया। थाने के सामने हुए इस हादसे के बाद पहुंची झूंसी पुलिस ने घायल हुए लोगों को अस्पताल पहुंचाया। दुर्घटना में मृत मोहम्मद सैफ का शव पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया गया। कुछ ही घंटे पहले बेटों को विदा करने वाले परिवारों तक यह खबर पहुंची तो सब बदहवास हो गए। मृतक सैफ और घायलों के परिवार के लोग रोते-बिलखते प्रयागराज में अस्पताल आ गए।

Edited By: Ankur Tripathi