प्रयागराज : कुंभ के दौरान नियमों को ताक पर रखकर आनन-फानन में बनाई गईं सड़कें अभी से धंसने लगी हैं। पिछले 15 दिन में शहर में कई जगह सड़क टूट गई या धंस चुकी है। ताजा मामला धूमनगंज, बैरहना और झूंसी का है। धूमनगंज में थाने के पास कानपुर जीटी रोड पर सड़क धंसने के कारण आवागमन बाधित रहा। लोग गड्ढ़े के किनारे से होकर गुजरे। बैरहना चौराहे के पास सड़क धंसने के बाद स्थानीय लोगों ने वहां पर पत्थर रख दिया, ताकि किसी प्रकार के हादसे से बचा जा सके। उधर, झूंसी से कनिहारपुर जाने वाली सड़क भी धंस गई है।

मानक की अनदेखी नजर आ रही

कुंभ मेले से पहले शहर की लगभग सभी सड़कों को चमकाने का काम शुरू किया गया था। कुछ सड़कें तो पहले बन गईं, पर अंतिम समय में सड़कों का निर्माण नियम को ताक पर रखकर किया गया। ठीक से मिट्टी और गिट्टी डाले बिना ही उस पर सड़क बना दी। अब एक-एक करके ऐसी सड़कें धंस रही हैं। पिछले दिनों लक्ष्मी टाकीज, सिविल लाइंस में हनुमान मंदिर, नवाब यूसफ रोड और बाघम्बरी रोड पर सड़क धंस गई थी। अब धूमनगंज में थाने के समीप कानपुर जीटी रोड पर अचानक सड़क धंस गई। सड़क पर आठ से 10 फीट गहरा गड्ढा हो गया। स्थानीय लोगों ने वहां पर बैरिकेडिंग कर दी, ताकि कोई व्यक्ति गड्ढे में गिरकर हादसे का शिकार न हो जाए।

जाम की भी रही समस्या

मुंडेरा से शहर की तरफ आने वाला रास्ता आधा रास्ता बाधित होने पर वहां पर जाम भी लगा रहा। दिन में जीटी रोड पर भारी वाहनों का आवागमन न होने के कारण ज्यादा परेशानी नहीं हुई पर रात में समस्या ने लोगों को खूब परेशान किया। बैरहना चौराहे के पास पावर हाउस के सामने भी अचानक सड़क धंसने से वहां पर गड्ढा हो गया। स्थानीय लोगों ने वहां पर कई पत्थर रख दिए, ताकि वहां से गुजरने वाले लोगों को यह समझ आ जाए कि वहां पर सड़क खराब है। उधर, कुसुमीपुर गांव में झूंसी से कोटवा तक जाने वाली सड़क भी धंस गई। शहर में कई जगह सड़क धंसने पर अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं।

थर्ड पार्टी ने की है सड़कों की पांच बार जांच

कुंभ मेला अधिकारी विजय किरन आनंद का कहना है कि कुंभ के बजट से जितनी भी सड़कें बनी हैं। थर्ड पार्टी ने उसकी पांच बार जांच की है। जहां पर खामियां मिली हैं। उन्हें दूर कराया जा रहा है। छह महीने के भीतर जहां पर सड़क टूटेगी या धंस जाएगी, उसे बनाने वाला ठेकेदार दुरुस्त कराएगा। सड़क निर्माण में गुणवत्ता के साथ समझौता करने वाले ठेकेदारों पर कार्रवाई होगी। अभी ठेकेदारों को पूरा भुगतान नहीं किया गया है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप