इलाहाबाद (जागरण संवाददाता)। पुराने यमुना पुल पर गोली मारे जाने से जख्मी गल्ला व्यापारी अनिल गुप्ता ने मंगलवार को दम तोड़ दिया। दोपहर में व्यापारी की मौत की खबर मिलते ही बताशामंडी, बहादुरगंज बाजार बंद हो गया। गुस्साए व्यापारियों ने रास्ताजाम कर हंगामा कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने पहुंच मामला संभाला। करीब डेढ़ घंटे बाद जाम खत्म हो सका।

उधर, मृतक के चाचा डा. राम निवास गुप्ता की तहरीर पुलिस ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। व्यापारी से लूट नहीं हुई, ऐसे में पुलिस कई एंगलों पर जांच कर रही है।व्यवसायी अनिल गुप्ता (48) चक जीरो रोड के रहने वाले थे। छह माह पहले उन्होंने डांडी में फ्लैट खरीदा था और परिवार के साथ शिफ्ट हो गए थे।

बताशामंडी, बहादुरगंज में उनकी दुकान है। सोमवार की रात वह बाइक से शहर से नैनी जा रहे थे तभी पुराने पुल पर बाइक से आए हमलावरों ने अनिल को सीने में गोली मार दी थी। गंभीर हालत में उन्हें एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार की दोपहर उनकी मौत हो गई।

व्यवसायी की मौत के बाद अस्पताल में भी हंगामा हुआ। व्यापारियों ने दुकान बंद कर रास्ता जाम कर दिया। सीओ प्रथम कृष्ण गोपाल सिंह ने व्यापारियों को समझाकर शांत कराया। अफसरों के निर्देश पर रात में व्यापारी के शव का पोस्टमार्टम कराया गया। उधर, नैनी थाने में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हो गई।

यह भी पढ़ें: यूपी में शादी को लेकर योगी सरकार का बड़ा फैसला, ​पढ़िए यहां

सीओ करछना अलका भटनागर का कहना है कि मृतक के मोबाइल की काल डिटेल निकालकर जांच की जा रही है। हमलावर दो थे, चेहरा ढके थे। जांच में जुटी पुलिस ने रीवा रोड डांडी स्थित पेट्रोल टंकी में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जे में ले ली है। फुटेज में आए संदिग्धों की पहचान की जा रही है।

यह भी पढ़ें: कर्नाटक के मुख्यमंत्री से मिले आइएएस अनुराग के परिजन

Posted By: amal chowdhury

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस