प्रयागराज, जेएनएन। यूपी के कौशांबी जनपद में रविवार की रात सड़क हादसा हुआ। सैनी कोतवाली क्षेत्र के गुलामीपुर के समीप अनियंत्रित होकर एक कार सड़क किनारे नहर में पलट गई। हादसे में कार में बैठे तीन लोग जख्मी हो गए। उन्‍होंने हिम्‍मत दिखाई और डायल 112 पर फोन कर दिया। कुछ ही देर में वहां पुलिस पहुंची। इसी बीच कुछ ग्रामीणाें की भी नींद खुली तो वहां पहुंचे। पुलिस ने स्‍थानीय ग्रामीणों की सहायता से नहर में गिरी कार में फंसे जख्‍मी लोगों को बाहर निकाला। उन्‍हें इलाज के लिए 108 एंबुलेंस से जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। 

इटावा से कोलकाता जा रहे थे कार सवार

इटावा के पीएसी 28 बटालियन गेट निवासी मोहित, उपेंद्र, अभिषेक पुत्र दिनेश और अंशु पुत्र राजेंद्र तिवारी कार से कोलकाता जा रहे थे। रविवार की रात कार कौशांबी जनपद में नेशनल हाईवे पर दौड़ रही थी। सैनी कोतवाली क्षेत्र के गुलामीपुर व केसरिया गांव के मोड़ के समीप कार अचानक अनियंत्रित हो गई। रात के अंधेरे में संभवत- चालक को मोड़ का अनुमान नहीं था। अनियंत्रित होकर कार सड़क किनारे नहर में पलट गई। 

घायलों ने ही पुलिस को दी थी सूचना

हादसे के बाद कार में फंसे लोगों ने डायल 112 पर फोन कर दुर्घटना की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के साथ बचाव कार्य शुरू किया। सभी घायलों को इलाज के लिए जिला चिकित्सालय मंझनपुर में भर्ती कराया। सैनी पुलिस ने सोमवार की नहर में फंसी कार को बाहर निकालवाया और मामले की जानकारी घायलों के परिवार वालों को दी।

महिला कुएं में कूदी, मौत

हंडिया कोतवाली क्षेत्र के रसूलपुर गांव में मानसिक रूप से अस्‍वस्‍थ महिला कुएं में कूद गई। इससे उसकी मौत हो गई। रसूलपुर गांव निवासी मणिशंकर तिवारी को एक पुत्र व तीन पुत्रियां है। मणिशंकर मजदूरी कर अपना व परिवार का जीविकोपार्जन करते है। मणिशंकर की बड़ी 18 वर्षीय पुत्री प्रियंका ने नए कपड़े दिलाने की मांग की। परिवार वालों ने कहा कि बाजार से खरीदेंगे। इसके बाद सभी अपने-अपने काम में व्‍यस्‍त हो गए। उसी दौरान अचानक प्रियंका भाग कर कुएं के पास पहुंची, जब तक लोग कुछ समझ पाते वह कुएं में कूद गई। किसी तरह उसे बाहर निकाला गया लेकिन मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर अंत्‍य परीक्षण को भेजा।

 

Edited By: Brijesh Srivastava