प्रयागराज,जेएनएन : गंगापार इलाके में नवाबगंज के कंजिया गांव में रविवार रात घर से दोस्त के साथ मेला घूमने निकले विनय कुमार पटेल (25) की हत्या कर दी गई। सोमवार दोपहर उसका शव घर से दूर खेत में मिला। हत्या में उसके तीन साथियों के खिलाफ मुकदमा लिखाया गया है जो घटना के बाद से ही फरार हैं।

कंजिया गांव के बक्सरा मजरा निवासी विनय उर्फ रमेश के पिता गिरधारी लाल का दस साल पहले निधन हो गया था। मां का बीस साल पहले देहांत हो चुका था। भाई-भाभी ने उसका पालन-पोषण किया था। विनय तीन भाइयों में छोटा था। दोनों बड़े भाई राजेश और राकेश लोकसेवा आयोग में कार्यरत हैं। अविवाहित विनय नशे का आदी था। रविवार शाम सात बजे पड़ोस का सत्यम उसे हथिगहां में लगे मेले में घूमने के लिए बुलाकर ले गया था।

रात नौ बजे तक विनय नहीं लौटा तो बहन कंचन ने गांव में खोजबीन की मगर वह मिला नहीं। सोमवार दोपहर घर से आधा किलोमीटर दूर सड़क किनारे राजकुमार सिंह के खेत में किसी ने विनय का शव देखा तो शोर मचाया। वहां भीड़ जुट गई। परिजन आ गए। शव देख बहन समेत परिवार के लोग चीखने लगे। नवाबगंज सहित तीन थानों की फोर्स के साथ एसपी गंगापार भी पहुंच गए।

विनय के सिर पर ईंट और लाठी से प्रहार के जख्म थे। उसकी कमीज खेत के पास सड़क पर पड़ी थी। कुछ दूर पर पेड़ों के नीचे शराब की खाली शीशियां थीं। ऐसे में पुलिस ने माना है कि वहां बैठकर शराब पीने के बाद विनय की हत्या की गई थी।

मोबाइल चोरी के झगड़े में कत्ल :

भाई राजेश ने पुलिस को बताया कि दो दिन पहले विनय का मोबाइल चोरी होने पर साथियों से उसका झगड़ा हुआ था। शक है कि उसी विवाद में विनय की हत्या कर दी गई। राजेश से तहरीर लेकर पुलिस ने सत्यम, संतोष कुमार और सकीले यादव के खिलाफ कत्ल का मुकदमा लिखा। छापेमारी की गई मगर तीनों घर पर नहीं मिले।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप