प्रयागराज, जेएनएन। पडोसी जनपद प्रतापगढ़ में बिहार ब्लाक के दु्ंदा का पूरवा गांव की तीन दिन पहले एक महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी। उसके परिवार के सभी सदस्यों का सैंपल परीक्षण के लिए भेजा गया था। इसी क्रम में मंगलवार को उसकी बहू भी कोरोना पॉजिटिव आ गई। इस तरह से अब तक कुल 80 मरीज  हो गए। स्वस्थ मरीजों की संख्या 53, एक्टिव मरीज 24 एवं मृत मरीज की संख्या तीन है। वहीं कोरोना का संदेह होने पर जिले से भेजे गए 67 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आने से राहत मिली है। हर दिन सैंपल जांच को प्रयागराज मेडिकल कालेज भेजे जा रहे हैं। सोमवार को भेजे गए 67 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव रही। इसमें दो मेडिकल कर्मी, पूरे पीतांबर के 30 लोगों समेत अन्य लोगों के सैंपल थे। मंगलवार तक जिले से 2383 सैंपल भेजे जा चुके हैं।

दस मरीजों की रिपोर्ट आई निगेटिव, आज होंगे अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज

कोविड अस्‍पताल लालगंज टामा सेंटर में कोरोना वायरस से संक्रमित दस मरीजों की मंगलवार को देररात रिपोर्ट निगेटिव आ गई है। ये सभी मरीज स्‍वस्‍थ हैं। इन मरीजों को आज अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज किया जाएगा।14 दिन पूर्व सभी को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। 14 दिन सैंपल जांच के लिए भेजे गए तो उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मरीज और उनके परिवार के लोग काफी राहत महसूस कर रहे हैं।

कोरोना संक्रमित मरीजों की स्थिति

 कुल मरीज :80

स्वस्थ हुए मरीज : 53

एक्टिव मरीज : 24

मृत मरीज : 03

भीखापुर गांव सील, 25 की हुई सैंपलिंग

 बाघराय क्षेत्र के गर्ग का पुरवा भीखापुर के सीआरपीएफ के जवान की रिपोर्ट पाजिटिव आने पर मंगलवार को जिला चिकित्सालय से डा. राकेश कुमार के नेतृत्व में जांच टीम पहुंची। पहले से सूचीबद्ध लोगों को प्राथमिक विद्यालय तारापुर कंदई में परिजनों समेत ले जाकर 25 की कोविड जांच के लिए सैंपलिंग कराई गई। अधीक्षक डा. शबीब हैदर और उनकी टीम साथ रही।

सुविधाओं से लैस हुआ जिला अस्पताल का आइसोलेशन वार्ड

 कोरोना के संकट से मुकाबला करने को जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड सुविधाओं से लैस किया गया है। यहां 10 बेड की सुविधा रहेगी।  कोरोना सैंपल की जांच के लिए मशीन लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। नेत्र वार्ड के पास इसे लगाया जा रहा है। इसी के बगल आइसोलेशन वार्ड है। यहां पर मुख्य गेट को टिन की दीवारों से पैक कर दरवाजा लगाया गया है। उस पर आइसोलशन-फ्लू वार्ड का बोर्ड भी लगाया गया है। नेत्र जांच कक्ष को प्लाई की दीवार बनाकर अलग कर दिया गया है। इसमें हाइड्रोलिक बेड व वेंटीलेकर को भी लगाने का काम शुरू है। सीएमएस डा. पीपी पांडेय ने बताया कि वार्ड को व्यवस्थित किया गया है। पिछले दिनों डीएम निरीक्षण को आए थे, उनके निर्देश के अनुसार मानक पर वार्ड बनाया गया है।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस