प्रयागराज, जेएनएन। जनपद के हंडिया थाना क्षेत्र के धनूपुर गांव में कमला शंकर 55 की सिर कूचकर हत्या कर दी गई। बचाव करने पर हमलावरों ने अमरेश को भी जमकर पीटा, जिससे वह घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कत्ल के पीछे भूमि विवाद का मामला सामने आया है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस उनके खिलाफ विधिक कार्रवाई कर रही है।

कमला शंकर बाजार में चाय पीने जा रहा था, इसी दौरान वारदात हुई

पुलिस के मुताबिक, धनूपुर निवासी अमरेश कुमार व गंगाधर के बीच जमीन का विवाद चल रहा है। मामला न्यायालय में विचाराधीन है। कमला शंकर मंगलवार की देर शाम बाजार में चाय पीने जा रहा था। आरोप है कि इसी दौरान गंगाधर ने अपने भाई मानिक चंद्र, जमुना प्रसाद व प्रवीण कुमार के साथ कमला शंकर को देखते ही गाली-गलौज शुरू कर दिया। विरोध करने पर सभी ने लाठी, डंडा और सरिया से उस पर हमला कर दिया। चीख-पुकार और शोर सुनकर अमरेश भी वहां पहुंचे चचेरे भाई कमला शंकर को बचाने का प्रयास करने लगा तो उस पर भी हमला बोल दिया गया। इससे दोनों जख्मी हो गए।

अस्पताल में भर्ती अमरेश की हालत चिंताजनक

घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उपरदहा ले जाया गया। यहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहां इलाज के दौरान कमला शंकर की मौत हो गई। वहीं अमरेश की हालत चिंताजनक बताई जा रही है। मौत की खबर मिलते ही पत्नी श्यामा देवी, बेटी निशा समेत अन्य स्वजन रोते-बिलखते रहे।

प्रधानी चुनाव की भी रंजिश की कही जा रही बात

ग्रामीणों का कहना है कि कमला शंकर टेंपो व ट्रैक्टर चलवाकर परिवार का भरण-पोषण करता था। गांव में यह भी चर्चा है कि जमीन के अलावा प्रधानी चुनाव की भी रंजिश चल रही थी। इंस्पेक्टर हंडिया वीरेंद्र यादव का कहना है कि अमरेश की तहरीर पर बुधवार को गंगाधर, मानिक चंद्र, जमुना प्रसाद पुत्रगण अर्जुन प्रसाद व प्रवीण कुमार पुत्र सरजू के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। वहीं शाम को तीन आरोपितों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

अमरूद तोडऩे पर हुए विवाद में पीटा, युवक की मौत

हंडिया थाना क्षेत्र के सरायमंसूर ढोकरी गांव में बच्चों के अमरूद तोडऩे को लेकर हुए विवाद के दौरान पिटाई से जख्मी विनोद कुमार की मौत हो गई। मामले में पुलिस ने कई महिलाओं के खिलाफ मुकदमा कायम किया है। पुलिस के मुताबिक, सोमवार शाम कुछ बच्चे एक बाग से अमरूद तोड़ लिए। इस पर बाग की देखभाल करने वाली महिलाओं ने बच्चों को पीटना शुरू कर दिया। आरोप है कि बच्चे को बचाने के लिए वहां विनोद पहुंचा तो महिलाओं ने उसे भी बेरहमी से पीटा। इससे वह जख्मी हो गया। पुलिस ने उसे अस्पताल भेजा, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस