प्रयागराज : नैनी जेल की लचर व्यवस्था और कर्मचारियों की लापरवाही से चोर भगंते भाग निकला। उसकी फरारी ने नैनी जेल की सुरक्षा व्यवस्था की भी पोल खोल दी। पुलिस के मुताबिक, भगंते को विशेष सुरक्षा सेल की 18 नंबर कोठरी में रखा गया था। शनिवार सुबह जांच हुई तो पता चला कि कोठरी में कंबल को इस तरह रखा गया था कि जैसे कोई व्यक्ति लेटा हो, हटाने पर वहां भगंते नहीं मिला। उसके नहीं मिलने पर सभी बैरक और जेल के कोने-कोने में तलाश की गई।

 

कोठरी के रोशनदान की टूटी थी एक राड

जांच में पता चला कि कोठरी के रोशनदान की एक राड टूटी थी। महिला वार्ड की बाउंड्री के पास केबल गिरी थी। महिला वार्ड की दीवार और जेल की नई दीवार के बीच एक मफलर ईंट से बंधा मिला। ईंट बाहर की तरफ लटकी थी। ऐसे माना गया कि बिचाराधीन बंदी भगंते रोशनदान के जरिए छत पर पहुंचा और फिर साढ़े तीन फीट के मफलर के सहारे करीब 20 फीट ऊंची दीवार से कूदकर भाग निकला। हैरान करने वाली बात यह है कि भगंते की सर्किल में सीसीटीवी कैमरा लगा था और सुरक्षा में कई बंदी रक्षक भी तैनात थे। इसके बावजूद सुरक्षा में छेद करके और सुरक्षा कर्मियों की आंख में धूल झोंककर फरार हो गया। ऐसे में कुछ बंदी रक्षकों के मिलीभगत की बात भी कही जा रही है। इंस्पेक्टर सरायइनायत बीरेंद्र यादव का कहना है भगंते उर्फ छग्गन एक बार थाने से भी भाग चुका है। उसके खिलाफ चोरी, लूट के कई मुकदमे दर्ज हैं।

छह बंदी रक्षक समेत नौ पर रिपोर्ट

मामले में बंदी रक्षक सुनील यादव, रवि प्रकाश सिंह, प्रेम चंद्र, चंद्र प्रकाश चौधरी, अवनीश पांडेय, अंशुमान देव, होमगार्ड लालजी, रामाश्रय पटेल, नरेंद्र सिंह, दीनानाथ मिश्रा व बंदी भगंते के खिलाफ नैनी थाने में रिपोर्ट दर्ज की गई है। इंस्पेक्टर नैनी पंकज सिंह ने बताया कि जेल अधिकारी की तहरीर पर मुकदमा लिखकर अभियुक्त की तलाश की जा रही है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस