प्रयागराज : सेंट्रल जेल नैनी की हाई सिक्योरिटी बैरक में कैद शातिर बंदी भगंते ते उर्फ छग्गन उर्फ हग्गन शुक्रवार की रात में फरार हो गया। शनिवार सुबह बंदियों की गिनती हुई तो वह नहीं मिला। इससे जेल अधिकारियों और कर्मचारियों में खलबली मच गई। जेल के भीतर से लेकर सरायइनायत तक उसकी गुपचुप तलाश होती रही, लेकिन पता नहीं चला। रात में सात बंदी रक्षकों को निलबिंत करते हुए छग्गन सहित सभी के खिलाफ नैनी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। पुलिस उसकी तलाश में खाक छान रही है।

  महंते पुत्र संतू सरायइनायत थाना क्षेत्र के डिगवा बक्‍खोपुर गांव का निवासी है। 31 दिसंबर 2018 को सरायइनायत पुलिस ने उसे गांजा व तमंचा के साथ गिरफ्तार कर नैनी जेल भेजा था। यहां उसे सर्किल चार के बैरक नंबर दो में रखा गया था।

एक सप्ताह पूर्व जेल से भागने का किया था प्रयास

करीब एक सप्ताह पहले छग्गन जेल से भागने का प्रयास करते हुए स्टोर रूम में छिप गया था। इस पर उसे सर्किल एक की हाई सिक्योरिटी बैरक में डाल दिया गया था। कहा जा रहा है कि शुक्रवार शाम उसे बैरक में भेजा गया था, लेकिन इसी बीच कहीं छिप गया। शनिवार सुबह जब बंदियों को बाहर निकाला गया तो छग्गन नहीं मिला। जेल का अलार्म बजते ही अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। खोजबीन शुरू हुई और एक टीम गांव भेजी गई। सरायइनायत पुलिस ने गांव पहुंचकर छापेमारी की।

कहते हैं जेल के डीआइजी

डीआइजी जेल बीआर वर्मा का कहना है कि तनहाई बैरक की छत के ऊपर ईंट बंधा मफलर मिला है, जिससे माना जा रहा है कि बंदी दीवार फांदकर भागा है। मामले में सात बंदी रक्षकों को निलंबित कर दिया गया है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस