प्रयागराज, जेएनएन। पड़ोसी जनपद कौशांबी में कड़ा थाना क्षेत्र के मोहब्बतपुर जीता गांव में पत्नी से कहासुनी के बाद तैश में आकर एक व्यक्ति ने जहर खा लिया। इसके बाद वह जाकर बिस्तर पर लेट गया। कुछ देर बाद उसकी हालत बिगड़ने पर अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन उसकी मौत हो गई। जरा सी बात पर घातक कदम उठाकर उस शख्स ने अपने परिवार को मुसीबत में डाल दिया। पहले ही गरीबी से जूझ रहे परिवार के सामने अब दो जून की रोटी का इंतजाम करना मुश्किल हो जाएगा।

झगड़े के बाद बाजार जाकर खरीदा था कीटनाशक

मोहब्बतपुर जीता गांव निवासी 45 वर्षीय मघई सरोज का अपनी पत्नी बल्ली देवी के साथ अक्सर झगड़ा होता था लेकिन शनिवार को बात ज्यादा बिगड़ गई। पत्नी से झड़प के बाद मघई बाजार गया और कीटनाशक खरीद लाया। उसे निगलने के बाद वह कमरे में जाकर चारपाई पर लेट गया। कुछ देर बाद पत्नी किसी काम से अंदर गई तो उसके मुंह से झाग निकलते देखा। मघई तड़प रहा था। बल्ली देवी ने चीख-पुकार की तो आसपास के लोग जुट गए। पड़ोसी तड़प रहे मघई को अस्पताल ले जाने की तैयारी में थे लेकिन तभी उसकी सांस थम गई। पहले जरा जरा सी बात पर पति मघई से झगड़ा करने वाली बल्ली देवी उसकी मौत के बाद विलाप करने लगी। उसका कहना था कि उसने कल्पना भी नहीं थी कि मघई ऐसा करेगा।

अब कैसे होगा चार बच्चों का गुजारा

मघाई सरोज मजदूरी कर परिवार का गुजारा कर रहा था। गरीबी की वजह से उसके चार बच्चे 16 साल का लखन, 14 साल का सोनू, 12 साल की बेटी रूपा और आठ साल की बेटी सुमन तथा पत्नी बल्ली देवी का जीवन यापन हो रहा था। अब मघई की मौत के बाद परिवार पर मुसीबत आ गई है। सवाल यह है कि अब उनका गुजारा कैसे होगा। वैसे भी आए झगड़ा होने के पीछे भी आर्थिक किल्लत ही रही है। काम नहीं मिलने पर घर में पेट भरने को भी कुछ नहीं रहता था।

Edited By: Ankur Tripathi