प्रयागराज, जेएनएन। बजट में उप्र के लिए 700 इलेक्ट्रिक बसों की स्वीकृति होने से प्रयागराज में भी इनके संचालन की तस्वीर साफ हो गई है। प्राथमिक तौर पर जिले को 50 इलेक्ट्रिक बसें मिलेंगी जो शहर और कस्बों में भी यात्री सेवा में लगाई जाएंगी। 

अभी तक यह मांग शासन की फाइलों में ही बंद थी

इलेक्ट्रिक बसों की मांग इलाहाबाद सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लिमिटेड की ओर से पिछले साल ही मंडलायुक्त के जरिए शासन से की गई थी। अभी तक यह मांग शासन की फाइलों में ही बंद थी। मंगलवार को उप्र शासन का बजट पेश होने से प्रस्ताव पर मुहर लग गई है। उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम (रोडवेज) के क्षेत्रीय प्रबंधक टीकेएस बिसेन ने बताया कि बसें आने और उनके संचालन से पहले चार्जिंग स्टेशन का होना जरूरी है। इसके लिए नैनी के जहांगीराबाद में प्रयागराज विकास प्राधिकरण से 9000 स्क्वायर मीटर जमीन मिली है। उसकी रजिस्ट्री होनी है और फिर जल निगम को वहां चार्जिंग स्टेशन बनाना है। इस पूरी प्रक्रिया में अभी वक्त लगेगा।

इन मार्गों पर चलेंगी बसें

रेलवे स्टेशन से लाल गोपालगंज - 10 बस

शांतिपुरम से रेमंड चौराहा (नैनी)- 10 बस

त्रिवेणीपुरम से पूरामुफ्ती- 10 बस

सिविल लाइंस से प्रतापगढ़ - 10 बस

बैरहना से शंकरगढ़- 10 बस।

चार घंटे की चार्जिंग, 160 किमी दौड़

इलेक्ट्रिक बस की बैटरी चार्ज करने में चार घंटे का समय लगेगा। चार्ज होने पर बस अधिकतम 160 किलोमीटर तक चल सकेगी।

प्रदूषण से मिलेगा छुटकारा

जिले में इलेक्ट्रिक बसों का संचालन शुरू होने के बाद प्रदूषण से काफी हद तक छुटकारा मिल जाएगा। अभी तक बसें डीजल से चल रही हैं। कुछ प्राइवेट बसें सीएनजी से चल रही हैं लेकिन, इलेक्ट्रिक बसें आ जाने से प्रदूषण पर काफी हद तक काबू पाया जा सकेगा।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस