जागरण संवाददाता, इलाहाबाद : हावड़ा -दिल्ली के बीच डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर के लिए अधिगृहीत जमीन का मुआवजा नहीं मिलने का आरोप लगाते हुए करछना कचरी के पास किसानों ने काम रुकवा दिया। एसडीएम ने धरनारत किसानों से बात की। इसके बाद स्थिति सामान्य हुई। तहसील क्षेत्र के कई गावों में किसानों को अब तक उनकी जमीन, मकान पेड़ इत्यादि का मुआवजा नहीं मिल सका है। प्रभावित गांव कचरी के किसानों ने सुबह धरना दे दिया। जेसीबी आदि से हो रहा काम रुकवा दिया गया। आनंदी हरिश्चंद्र, रामदेव पटेल, रामजस पटेल, राम दशरथ पटेल, जग बहादुर पटेल, हजारी लाल पटेल, रामचंद्र, शिवकुमार सिंह, बैजनाथ रामानन्द सागर, आगम लाल आदि धरने पर बैठे। इसकी जानकारी होने पर स्थानीय पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे। उपजिलाधिकारी करछना डी राजा गणपति आर ने किसानों को बुलाकर वार्ता की और जल्द से जल्द समस्याओं के निराकरण का आश्वासन दिया। कहा कि कमेटी गठित कर बकाया मुआवजे का भुगतान कराया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस