प्रयागराज, जागरण संवाददाता। लंबे समय से फरार चले रहे रियल एस्टेट कंपनी शाइन सिटी के सीएमडी राशिद नसीम, उसके भाई आसिफ व जसीम खां समेत खिलाफ एक और मुकदमा हो गया है। आर्थिक अपराध अनुसंधान संगठन (ईओडब्ल्यू) कानपुर के इंस्पेक्टर शिवकुमार ने सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। तीनों आरोपितों पर कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने का आरोप है। सीएमडी और उसके भाई पर इनाम भी घोषित है।

वारंट जारी होने पर भी नहीं हो रहे हाजिर

इंस्पेक्टर शिवकुमार का आरोप है कि करेली निवासी आसिफ और राशिद तथा नैनी के जमीम लंबे समय से फरार चल रहे हैं। इनके खिलाफ धोखाधड़ी के पर्याप्त साक्ष्य मिले हैं। अदालत से गैरजमानती वारंट जारी हुआ है। कुर्की की नोटिस भी घर से लेकर सार्वजनिक स्थान पर चस्पा की जा चुकी है। इसके बावजूद वह कोर्ट में हाजिर न होकर आदेश का उल्लंघन कर रहे हैं। सिविल लाइंस पुलिस का कहना है कि मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

पिछले हफ्ते दो आरोपित हुए गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि हाल ही में शाइन सिटी के दो आरोपित अधिकारियों को प्रयागराज और वाराणसी में गिरफ्तार किया गया है। प्रयागराज पुलिस ने गुजरात में फरारी काट रहे आरोपित को लौटने पर पकड लिया था। पिछले साल भर के दौरान शाइन सिटी के जालसाज आरोपितों के खिलाफ यूपी में सैकड़ों मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। तीन मुख्य आरोपित आसिफ और राशिद के बारे में कहा जा रहा है कि वे मुकदमे दर्ज होने पर दुबई में छिपे हैं। शाइन  सिटी ने लोगों को बेहद कम दाम पर फ्लैट और प्लाट उपलब्ध कराने का झांसा देकर छला है। पिछले आठ-नौ साल में इस ठग कंपनी के सीएमडी तथा उसके खासमखास लोगों ने देश भर में कई अरब रुपये लोगों से निवेश कराकर हड़प लिए। जब निवेशक प्लाट और फ्लैट की मांग करने लगे तो ठग कंपनी के लोग दुबई भाग गए या घर से हटकर इधर-उधर फरारी काटने लगे। कुछ आऱोपित पकड़े गए मगर निवेशकों को कुछ नहीं मिला है। 

Edited By: Ankur Tripathi