प्रयागराज, जागरण संवाददाता। संगमनगरी में घर-घर से जुटाए जाने वाले गीले कचरे से जैविक खाद तैयार की जाने लगी है। इसके लिए मुंडेरा सब्जी मंडी परिसर में कंपोस्ट प्लांट चालू हो गया है। कंपोस्ट प्लांट से हर रोज लगभग तीन टन जैविक खाद बनेगी। आम आदमी अपने किचेन गार्डेन, खेतों अथवा बागवानी के लिए इस जैविक खाद का इस्तेमाल करना चाहें तो उन्हें ढाई रुपये प्रति किलोग्राम खर्च करना होगा।

नगर निगम प्रशासन ने गीले कचरे से जैविक खाद बनाने के मकसद से शहर पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र स्थित मुंडेरा सब्जी मंडी परिसर में तीन टन क्षमता का कंपोस्ट प्लांट लगाने के लिए पटेल नगर (सूरत) की एजेंसी मेसर्स बायोफिक्स प्राइवेट लिमिटेड का चयन किया था। इस एजेंसी का चयन दो जनवरी 2021 को हुआ था। एजेंसी द्वारा इस प्लांट को अपने खर्च पर लगाया गया है। करीब छह महीने में प्लांट बनकर तैयार हो गया और सात जुलाई से इसका संचालन भी शुरू हो गया है। हालांकि, प्लांट में बिजली कनेक्शन के लिए करीब 17 लाख रुपये निगम ने खर्च किए हैं।

एजेंसी को पांच रुपये किलो प्रोसेसिंग चार्ज देगा निगम

गीले कूड़े की प्रोसेसिंग के लिए निगम एजेंसी को पांच रुपये प्रति किलोग्राम प्रोसेसिंग चार्ज देगा। एजेंसी द्वारा तैयार जैविक खाद निगम की हो जाएगी। निगम उस खाद को बेचेगा। एजेंसी अथवा आम लोगों को 2.50 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से जैविक खाद मिलेगी। इस काम के भुगतान के लिए निगम ने 15वें वित्त आयोग से सालिडवेस्ट मैनेजमेंट के लिए मिली धनराशि से प्रविधान किया है। करार में यह भी कहा गया है कि भविष्य में कूड़े पर वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के लगने पर निगम उसका भी भुगतान करेगा।

नगर निगम के मुख्‍य अभियंता बोले

नगर निगम के मुख्‍य अभियंता सतीश कुमार ने कहा कि कंपोस्ट प्लांट में जैविक खाद बनाने का ट्रायल शुरू हो गया है। लोगों को भी ढाई रुपये किलो जैविक खाद बेची जाएगी। इसके लिए कुछ विशेष स्थलों पर स्टाल भी लगवाए जाएंगे।

 

Edited By: Brijesh Srivastava