प्रयागराज, जेएनएन। प्रतापगढ़ जनपद में कोरोना महामारी जानलेवा बनी हुई है।  महामारी से संक्रमित पांच और लोगों की जान चली गई। पूर्व विधायक हरि प्रताप सिंह के छोटे भाई अरुण प्रताप सिंह का भी निधन कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से हो गया। वह दो सप्ताह से लखनऊ में भर्ती थे। उनके निधन पर लोगों ने संवेदना व्यक्त की है। लगातार मौतों और बड़ी संख्या में नए केस मिलने की वजह से लोगों में घबराहट का माहौल बना है।

दंपती और पंचायत प्रत्याशी की भी थमी सांस

इसी तरह सदर के राजगढ़ गांव के एक दंपती व युवक ने भी इस महामारी से दम तोड़ दिया। लक्ष्मणपुर के एक पंचायत प्रत्याशी की भी जान चली गई। इसके अलावा मानिकपुर थाना क्षेत्र के बजहाभीट गांव में बीते एक सप्ताह में पांच लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। इसे लेकर ग्रामीण भयभीत हैं। हालांकि जिन लोगों की मौत हुई है वह किसी न किसी बीमारी से पीडि़त थे। इधर मंगलवार को हुई एंटीजन जांच में 577 नए  कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें पांच पुलिस कर्मी, रोडवेज के 12 यात्री, पांच रेल यात्री भी शामिल हैं। तीन शिक्षक भी संक्रमण की जद में आए हैं। सीएचसी बाबाबेलखर नाथ धाम में स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा 80 ग्रामीणों का एंटीजन टेस्ट किया गया। राहत वाली बात रही कि सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। लैब टेक्नीशियन दिलीप गुप्ता और शुभाशीष पांडेय ने बताया कि ग्रामीणों का कोरोना सैंपल आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए भी भेजा गया है। अधीक्षक डॉ. आरिफ हुसेन,बीपीएम लोकेश श्रीवास्तव,बीसीपीएम अमित सिंह और धीरज  सिंह ने जांच में सहयोग किया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021