प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए यूपी सरकार ने रविवार को लॉकडाउन लगाया है। लॉकडाउन में रविवार को प्रयागराज में सब्‍जी व फलों की थोक मंडी में भी सन्‍नाटा रहा। मुंडेरा मंडी को भले ही प्रशासन ने बंद करने का निर्देश न‍हीं दिया था। पुलिस के डर के कारण फुटकर व्यापारी और ग्राहक मंडी तक नहीं पहुंचे। व्यापारियों और ग्राहकों के नदारद रहने से मंडी में सब्‍जी पड़ी ही रह गई। किसान और सब्‍जी व्‍यापारी परेशान रहे। इससे फुटकर में सब्जियों की कीमतें भी चढऩे के आसार हैं।

आसपास के जिलों से भी किसान सब्‍जी लेकर मुंडेरा मंडी पहुंचे

रोज की तरह रविवार को भी लॉकडाउन में मुंडेरा मंडी खुली। गंगापार, यमुनापार, कछारी क्षेत्रों के अलावा कौशांबी, धाता, फतेहपुर समेत आसपास के जिलों से किसान व व्‍यापारी बड़े पैमाने पर सब्‍जी लेकर पहुंचे। इससे मंडी में सब्जियों की भरमार रही लेकिन लॉकडाउन में बाहर निकलने पर पुलिस का डंडा खाने के डर से फुटकर व्यापारियों और ग्राहकों ने मंडी से दूरी बना ली। इससे सब्जियां एकदम नहीं बिकीं। सब्जियों के न बिकने से जो किसान और व्यापारी बाहर से माल लेकर आए थे वह सब बहुत परेशान रहे। शाम तक उनकी हरी सब्जियां भी बर्बाद हो जाएंगी।

सब्जियों की कीमत कम-ज्‍यादा नहीं हुई

सब्जियों के रेट पर भी जरा ध्‍यान दें। कद्दू, लौकी, नेनुआ, परवल, भिंडी, करैला के दामों में दो से लेकर पांच-छह रुपये तक की गिरावट पहले से ही है। टमाटर का रेट भले 14-15, प्याज का दाम 12-14 और आलू का मूल्य 10 से 12 रुपये किलो रहा। गोला आलू 10 और जी-फोर 12 रुपये किलो रही। खरबूज, तरबूज और खीरे का रेट भी पूर्ववत रहा।

पुलिस के डर से नहीं पहुंचे फुटकर व्‍यापारी, सब्जियों के रेट बढ़ेंगे

मुंडेरा सब्जी एवं फल व्यापार मंडल के अध्यक्ष सतीश कुशवाहा का कहना है कि प्रशासन ने मंडी खुलने की अनुमति दी है। शुक्रवार को डीएम के साथ हुई बैठक में फुटकर बिक्री में कोई अंकुश न रहने की बात कही गई थी। हालांकि पुलिस के डर से फुटकर व्यापारी सब्जियां लेने नहीं आए। इससे सब्जियों के दाम भी चढ़ जाएंगे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021