प्रयागराज, जेएनएन। सभी परिषदीय स्कूल अपने क्षेत्र में शिक्षा चौपाल लगाएंगे। सभी खंड शिक्षाधिकारी और प्रधानाध्यापक बैठक कर इसकी कार्य योजना तैयार करेंगे। इस चौपाल का उद्देश्य लोगों को सजग बनाना और कोविड-19 से बचाव के तौर तरीके समझाना है। अभिभावकों को यह भी कहा जाएगा कि अधिक से अधिक समय बच्चों को दें। 

दीक्षा एप को अभिभावकों को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित किया जाएगा

शैक्षणिक गृह कार्य पूरा करने व बच्चों को लिखित कार्य के माध्यम से अभ्यास कराने का भी प्रयास करें। दीक्षा एप को अधिक से अधिक अभिभावकों को डाउनलोड करने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा। प्रत्येक शिक्षा चौपाल में एआरपी अथवा शिक्षक संकुल भी शामिल होंगे। कक्षा कक्ष में सुधार के लिए विद्यालयों में शिक्षकों द्वारा अभिभावकों को छोटे छोटे समूह में बुलाकर अथवा गृह भ्रमण कर विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी। 

प्रदेश को 'प्रेरक प्रदेश' के रूप में विकसित करने की लेंगे शपथ

कार्यक्रम के तहत सभी शिक्षकों व हित धारकों को प्रदेश को प्रेरक प्रदेश के रूप में विकसित करने की शपथ दिलाई जाएगी। इसमें वह अपने पूरे नाम के साथ शपथ लेंगे कि मैं, अपने अधिकार क्षेत्र के विद्यालयों को आदर्श विद्यालय के रूप में विकसित करने के लिए सभी सहभागियों को प्रेरित करूंगा। मैं अपने विद्यालय में शिक्षा पा रहे प्रत्येक बच्चे को निर्धारित अधिगम स्तर प्राप्त करन के लिए प्रेरित करूंगा। मै अपने विद्यालय, विकासखंड, जनपद, मंडल, व प्रदेश को प्रेरक प्रदेश के रूप में विकसित करने के लिए अपना बहुमूल्य योगदान दूंगा/दूंगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021