प्रयागराज,जेएनएन। एक गलती ने नौकरी की उम्मीद पर पानी फेर दिया। इससे अभ्यर्थियों के पास पछताने के अलावा कुछ नहीं बचा है। इन दिनों परिषदीय स्कूलों में सहायक अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है। चयनितों को नियुक्ति पत्र दिए जा चुके हैं। महिला व दिव्यांग अभ्यर्थियों को स्कूल चयन का विकल्प भी मिल चुका है। प्रयागराज में चयनित हुए 921 अभ्यर्थियों में से 70 ऐसे हैं जिन्हें नियुक्ति पत्र नहीं मिला है। इन अभ्यर्थियों की मामूली गलती ने उम्मीदों पर पानी फेर दिया। इनमें से 7 ऐसे अभ्यर्थी भी है, जिनके अभ्यर्थन ही निरस्त कर दिए गए। ऐसा अंकपत्र में गड़बड़ी के चलते हुआ।

7 अभ्यर्थियों के अंकपत्र में गड़बड़ी

सहायक अध्यापकों के पदों पर जिले में कुल 979 अभ्यर्थी चयनित होने थे। दो दिन चली काउंसलिंग के दौरान 921 प्रतिभागी चयन प्रक्रिया में शामिल हुए। इस दौरान 851 प्रतिभागी चयनित किए गए। सभी को नियुक्ति पत्र भी दिए गए। 70 प्रतिभागियों के प्रपत्रों में तमाम तरह की गड़बडिय़ां मिलीं। बीएसए संजय कुमार कुशवाहा ने बताया कि सात चयनितों के अभ्यर्थन निरस्त किए गए हैं। उनके प्रपत्र में गड़बड़ी मिली। 63 अभ्यर्थियों ने आवेदन भरते सयम पूर्णांक और प्राप्तांक को भरने में गलती की इसकी वजह से नियुक्ति पत्र नहीं जारी किए गए। ऐसे सभी मामलों का विवरण सचिव बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय को भेजा जा चुका है। वहां से जैसे निर्देश मिलेगे उसकी के अनुसार आगे कदम उठाया जाएगा।

अभ्यर्थन निरस्त के ये है कारण

कई अभ्यर्थियों के टेट की वैलिडिटी खत्म हो गई। फार्म भरने के बाद बीटीसी प्रशिक्षण पूरा हुआ। स्पेशल बीएड को नहीं थी आवेदन की अनुमति। प्राइमरी के स्थान पर लगा दिया था जूनियर टेट का सर्टिफिकेट

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस