प्रयागराज [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के राजकीय माध्यमिक कॉलेजों को 3300 एलटी ग्रेड शिक्षक अभी और मिलेंगे। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) में हिंदी विषय की लिखित परीक्षा में सफल होने वालों का अभिलेख सत्यापन चल रहा है। जल्द ही सामाजिक विज्ञान विषय का सत्यापन शुरू होगा। कला विषय का परिणाम जारी हो चुका है लेकिन अर्हता का पेच फंसा है। ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को 3317 एलटी ग्रेड चयनितों को नियुक्ति पत्र वितरित किया है। 

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग को पहली बार एलटी ग्रेड शिक्षक चयन 2018 का जिम्मा मिला। आयोग ने 15 मार्च 2018 से भर्ती प्रक्रिया शुरू की। 15 विषयों में 10,768 पदों के लिए 7,63,317 आवेदन हुए थे। लिखित परीक्षा 29 जुलाई को प्रदेश के 39 जिलों में 1760 केंद्रों पर कराई गई। परीक्षा में 52 प्रतिशत अभ्यर्थी शामिल हुए थे। परीक्षा के दौरान वाराणसी में हिंदी व सामाजिक विज्ञान विषय का पेपर लीक होने का आरोप लगा। वाराणसी एसटीएफ ने कुछ अभ्यर्थियों को गिरफ्तार करके जांच शुरू की और पेपर छापने वाले प्रिटिंग प्रेस मालिक को भी गिरफ्तार किया गया।

इसी वजह से भर्ती के अन्य विषयों का परिणाम जारी होता रहा लेकिन दो विषयों का परिणाम फंसा रहा। 13 मार्च से आठ अक्टूबर 2019 के बीच 13 विषयों का रिजल्ट जारी हुआ था। इसमें 7481 पदों के सापेक्ष 4243 अभ्यर्थी सफल हुए। उसमें कला विषय की अर्हता का मामला सुलझा नहीं है। इधर रिजल्ट आया तो हिंदी में 1433 पदों के सापेक्ष 1432 व सामाजिक विज्ञान में 1854 पदों के सापेक्ष 1851 अभ्यर्थी परीक्षा सफल हुए हैं। अब आयोग अभिलेख सत्यापन करा रहा है। इसके बाद तीन विषयों का नियुक्ति पत्र दिया जाएगा।

3520 पद अभी खाली : एलटी ग्रेड भर्ती में योग्य अभ्यर्थी न मिलने के कारण 3520 पद खाली रह गए हैं। कंप्यूटर विषय की परीक्षा पहली बार हुई इसमें भी 1666 पद खाली हैं। इसी प्रकार अंग्रेजी, विज्ञान, गणित, कला, शारीरिक शिक्षा जैसे विषयों में सैकड़ों पद खाली हैं। असफल अभ्यर्थी खाली पदों पर जल्द भर्ती चाहते हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस