तिलई बाजार : पिछले डेढ़ दशक से बुनकरों को फ्लैट रेट पर मिल रही बिजली योजना समाप्त कर मीटर रीडिग के अनुसार बिजली बिल वसूलने के विरोध में समूचे प्रदेश के बुनकर गत गुरुवार से हड़ताल पर हैं। मऊआइमा पावरलूम बुनकर एसोसिएशन के तत्वावधान में शनिवार को बुनकरों ने रैली निकाल कर सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। इस दौरान दर्जनों बुनकरों ने फ्लैट रेट वापस करो, तथा बुनकरों का शोषण बंद करो जैसे तमाम स्लोगन लिखी तख्तियां हाथों में लेकर विरोध जताया।

मऊआइमा में बुनकरों की बदहाली दूर करने के लिए वर्ष 2006 में सस्ते दाम पर बिजली देने के लिए फ्लैट रेट योजना की शुरूआत की गई। विभाग ने जनवरी 2020 से मीटर रीडिग आधारित बिल वसूलने का आदेश जारी किया तो बुनकरों में उबाल आ गया। सरकार ने तीन सितंबर को बुनकर संगठनों को बातचीत के लिए आमंत्रित किया। बैठक के दौरान सूबे के अपर मुख्य सचिव हथकरघा नवनीत सहगल ने फ्लैट रेट योजना को 31 जुलाई तक बढ़ाने और आगे की नीति बुनकरों से सामंजस्य बना कर अगले एक पखवाड़े में घोषित करने को कहा था। मऊआइमा पावरलूम बुनकर एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहम्मद शोएब अंसारी एवं महामंत्री मोहम्मद फारूक का कहना है कि अभी तक समझौते को अमलीजामा नहीं पहनाया। जिससे बुनकरों को15 अक्टूबर से हड़ताल पर जाना पड़ा। शनिवार को बुनकरों ने अपनी मांगों को लेकर कस्बे के चमन पार्क पर बैठक कर फ्लैट रेट की वापसी व बुनकरों के शोषण के खिलाफ हुंकार भरी। इसमें शोएब अंसारी, मोहम्मद फारूक, सलीम अंसारी, शौकत अली, दानिश अंसारी, हाजी मोहम्मद वासिक, अकील अहमद, कलीमुल्लाह, निसार अहमद, उबैद उर रहमान, अंसार अहमद शामिल रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस