प्रयागराज,जेएनएन। जिले के यमुनापार इलाके में शंकरगढ़ पुलिस ने दो दिन पहले तस्करों से बरामद असलहे बिहार के मुंगेर से लाए गए थे। इन्हेें एसटीएफ ने पकड़ा था। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि असलहों को तस्कर मुंगेर से मंगाते थे। आरोपित काफी दिनों से असलहे की तस्‍करी में शामिल थे। पुलिस आरोपितों से पूछताछ के बाद उनके गिरोह में शामिल अन्‍य सदस्‍यों के बारे में जानकारी जुटा रही है।

तीन तस्‍करों गिरफतार कर बरामद की थी 10 पिस्‍टल

एसटीएफ ने तीन लोगों को पकड़ा था जिनसे 10 पिस्टल बरामद की थी। तीनों ने बताया था कि वे मध्य प्रदेश से असलहा लाकर यहां बेचते थे। अपने गिरोह के सदस्यों के नाम भी बताए, जो मप्र में हैं। पुलिस ने पूछताछ का दायरा और बढ़ाया तो पता चला कि उनके गैंग के सदस्य असलहा बिहार के मुंगेर से लेकर आते हैं।

मध्‍य प्रदेश में मिलती थी असलहे की खेप

मप्र बुलाकर उनको ये असलहे बेचने के लिए दे दिए जाते हैं। अब पुलिस मप्र में ठिकाना बनाकर रहने वाले उनके गिरोह के अन्य सदस्यों की धरपकड़ में लगी है। हालांकि, मामला दूसरे राज्य का है इसलिए वहां की पुलिस से भी मदद ली जाएगी। इस बारे में सीओ एसटीएफ नवेन्दु सिंह का कहना है कि असलहा तस्कर गिरोह पर हमेशा नजर रहती है। गिरफ्तार बदमाशों से पूछताछ में कई बातें सामने आईं हैं जिस पर काम चल रहा है।  

प्रतियोगी छात्र समेत दो ने फांसी लगाई

शहर के दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में प्रतियोगी छात्र समेत दो लोगों ने फंदे से लटककर जान दे दी। घटनाएं कर्नलगंज और धूमनगंज थाना क्षेत्र में में हुईं। मीरजापुर जनपद के गौसीर सरपति गैपुरा, कलाना दुबे गांव निवासी चंद्र प्रकाश तिवारी का पुत्र आशीष तिवारी (24) कर्नलगंज के ढरहरिया स्थित गुप्ता लॉज में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता था। तैयारी करने के साथ ही वह गेस्ट हाउस में वेंटर का काम भी करता था।  वहीं, धूमनगंज थाना क्षेत्र के मुंडेरा की रहने वाली नीलम (50) ने सोमवार को दिन में घर में साड़ी के सहारे फांसी लगा ली। स्वजनों का कहना है कि नीलम की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस