जासं, इलाहाबाद : ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए ट्रिपलआइटी अब बड़े पैमाने पर सोलर एनर्जी का उत्पादन करेगा। 2.19 करोड़ की लागत से 300 किलोवाट सौर ऊर्जा उत्पादन के इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया गया है। प्रबंधन ने मई तक इस प्रोजेक्ट के पूरा होने की उम्मीद जताई है।

भारतीय सौर ऊर्जा निगम लिमिटेड ने बीते साल 18 नवंबर को इस बाबत संस्थान को पत्र भेजा था। जिसमें 500 मेगावाट तक के प्रोजेक्ट पर लागत में 30 फीसद छूट का वादा भी किया गया था। इसके बाद संस्थान के सहायक अभियंता अनिल भदौरिया ने सौर ऊर्जा पैनलों और इनवर्टर के परीक्षण के लिए पुणे और कोलकाता का दौरा किया। भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपलआइटी) के कार्यवाहक निदेशक प्रो. जीसी नंदी ने बताया कि संयंत्र द्वारा उत्पादित बिजली, ग्रिड के लिए उपलब्ध कराई जाएगी। इससे संस्थान का बिजली खर्च घटेगा। यह प्रोजेक्ट संस्थान के सात मंजिल पंचम पुरुष छात्रावास की छत पर लगाया जा रहा है। जिसकी जिम्मेदारी फोर्थ पार्टनर एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड को सौंपी गई है। इसमें लगभग 940 सौर पैनल और 10 इनवर्टर लगाये जायेंगे। मई तक यह प्रोजेक्ट पूरा हो जाएगा। उन्होंने बताया कि सौर फोटोवोल्टिक प्रौद्योगिकी का महत्व एक विश्वसनीय ऊर्जा स्त्रोत के रूप में दुनिया भर में बढ़ रहा है। भारत सरकार के नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (एमएनआरई) और मानव संसाधन विकास मंत्रालय के संयुक्त प्रयास के अनुरूप ही इस योजना को आरंभ किया जा रहा है। धीरे-धीरे संस्थान के अन्य भवनों पर भी सोलर पैनल लगाने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट के लिए संस्थान को 53,54,520 रुपये की सब्सिडी भी मिल रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस