हाथरस (जेएनएन) : सादाबाद के गांव वेदई में नौकरी न मिलने के अवसाद से ग्रस्त युवक ने मंगलवार की शाम को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। गोली की आवाज होते ही परिजनों में खलबली मच गई। परिजन ने गेट तोड़कर युवक को कमरे से बाहर निकाला, लेकिन तब तक युवक की मौत हो चुकी थी।

नौकरी न मिलने पर अवसाद में आ गया था युवक

गांव वेदई के अभिषेक शर्मा (32) योग्यता के अनुरूप रोजगार न मिलने से परेशान थे। उनके पिता यतेंद्र सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य हैं। वे उन्हें दिलासा देते रहते थे, लेकिन अभिषेक अवसाद से बाहर नहीं आ पाए। कुछ दिन से गुमसुम रहने लगे थे।

आठ दिन पहले हुआ था बेटे का जन्म

आठ दिन पहले ही अभिषेक की पत्नी ने बेटे को जन्म दिया था। बच्चे के आने पर भी उनकी मन:स्थिति में बदलाव नहीं आया। उनकी पत्नी बच्चे को लेकर जेठानी के घर पर थी। घर में अभिषेक अकेले थे। अभिषेक ने कमरा बंद करके अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर सीने पर लगाकर गोली मार ली। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग व परिजन भागे। दरवाजे को तोड़ा। सोफे पर लथपथ अभिषेक की लाश देखकर सभी की चीख निकल गई। परिजनों में हाहाकार मच गया। घटनास्थल पर सैकड़ों ग्रामीण एकत्रित हो गए। पुलिस मौके पर पहुंची और पड़ताल कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

Posted By: Sandeep Saxena

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप